शादी के बाद हर लड़की को करना पड़ता है इन 4 चुनौतियों का सामना, खुद को अभी से करें तैयार

 

शादी

शादी का ख्वाब हर लड़की देखती है और सभी के जीवन में शादी काफी मायने भी रखती है। शादी का गलत निर्णय दो लोगों की नहीं बल्कि दो परिवारों की जिंदगी बर्बाद कर सकता है। इसलिए शादी का फैसला बहुत सोच समझकर लेना चाहिए। शादी के बाद दूल्हा दुल्हन दोनों की जिंदगी में बहुत सारे परिवर्तन आ जाते हैं। खासकर लड़कियों की जिंदगी शादी के बाद पूरी तरह ही बदल जाती है। शादी के बाद हर लड़की को ऐसे घर में खुद के लिए जगह बनानी पड़ती है जहाँ के बारे में उसे कुछ भी पता नहीं होता है। इसके लिए उसे कई प्रकार की चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। आज हम आपको ऐसी ही कुछ चुनौतियों के बारे में बताने जा रहे हैं।

अकेलेपन
शादी के पहले लड़की अपने घर पर होती है तो उसके पास उनके माता-पिता, भाई-बहन होते हैं। मगर शादी करके जब वे किसी दूसरे घर जाती हैं तो खुद को अकेला फील करने लगती हैं। ऐसा इसलिए भी होता है क्योंकि शादी के बाद न केवल लड़कियां बल्कि उनके ससुराल वाले भी उनसे अनजान होते हैं और वे लड़की को उस घर में एडजस्ट होने के लिए पूरा वक्त देते हैं। इसी वजह से लड़कियां कभी-कभी खुद को अकेला व असहाय फील करने लगती हैं। वे अपनी भावनाएं जाहिर नहीं करती हैं।

बहू की जिम्मेदारी
शादी से पहले लड़कियां अपने घर में पूरी आजादी और मौज-मस्ती के साथ रहती हैं, वहीं शादी होने के बाद उन पर अचानक से बहू की जिम्मेदारी आ जाती है। अचानक उनकी लाइफ में कई रिश्ते बन जाते हैं, जिससे वे घबरा जाती हैं। केवल ये भी नहीं जिन लड़कियों ने अपने घर पर कभी काम नहीं किया होता है उन्हें शादी के बाद पूरा घर चलाने को कह दिया जाता है। हर लड़की अपने घर में अपनी मन मर्जी के मुताबिक जीती है मन हुआ तो काम किया नहीं तो नहीं किया मगर शादी के बाद उसके लिए अचानक से इतनी जिम्मेदारियों को संभालना किसी चुनौती से कम नहीं होता है।

कामकाजी महिलाओं को निजी जिंदगी में बराबर संतुलन बनाना
वर्किंग वीमेन यानी कामकाजी औरतों को इस प्रकार का करना पड़ता है। लड़कियां शादी से पहले अकेले या फिर अपने परिवार के साथ रहती हैं तो वे आसानी से अपनी प्रोफेशनल और पर्सनल लाइफ में संतुलन बना लेती हैं, मगर ससुराल में इस बैलेंस को बनाये रखना उनके लिए बहुत मुश्किल भरा काम हो जाता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि उसे बहू नाम का टाइटल मिल जाता है जिसके कारण उनके सिर 10 जिम्मेदारियां भी आ जाती हैं। उन्हें ससुराल आने पर आगे-पीछे का सभी चीजों के बारे में भी सोचना पड़ता है। शादी से पहले वो अपने घर पर वे कोई काम नहीं भी करती तो भी चलता था, मगर यहां उनसे लोगों को बड़ी-बड़ी उम्मीदें होती हैं, जिसे उन्हें हर हाल में पूरा करना ही पड़ता है। इसी कारण वो कभी कभी चिड़चिड़ी भी हो जाती हैं।

खुद के लिए स्पेस न रहना
पर्सनल स्पेस सभी को पसंद होता है। शादी से पहले लड़कियां अपने कमरे में अपनी पर्सनल स्पेस के साथ रहती थीं, वहीं शादी के बाद ससुराल जाने पर उन्हें खुद के साथ थोड़ा समय बिताने का समय ही नहीं मिल पाता है। ससुराल जाते ही वे कामों में इतना व्यस्त हो जाती हैं की उनके पास पर्सनल स्पेस नाम की कोई चीज ही नहीं बचती। वो खुद के बारे में कुछ भी सोच नहीं पाती। अक्सर शादी के बाद लड़कियों को उनकी पर्सनल स्पेस नहीं मिल पाती। पर्सनल स्पेस न मिलने पर कई बार वे काफी स्ट्रेस में भी रहने लगती हैं और जब यह स्ट्रेस बढ़ जाता है जिसके कारण वो अक्सर चिढ़चिढ़ी हो जाती हैं और उनमें इस तरह का बदलाव देखकर सभी हैरान रह जाते हैं।

close