झारखंड हाई कोर्ट से लालू को नहीं मिली राहत, जमानत पर सुनवाई 6 हफ्ते के लिए टली

 

रांची। बहुचर्चित चारा घोटाले में सजायाफ्ता आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव की जमानत याचिका पर सुनवाई टल गई है। झारखंड हाई कोर्ट में लालू प्रसाद की जमानत याचिका पर आज होने वाली सुनवाई 6 हफ्ते के लिए टल गई है। इस संदर्भ में लालू प्रसाद के वकील प्रभात कुमार ने बताया कि सजा की अवधि के बारे में सर्टिफाइड कॉपी नहीं मिल पाने की वजह से अदालत की तरफ से और समय देने का आग्रह किया गया है। उन्होंने कहा, आगामी 14-15 दिनों में सजा की अवधि से जुड़ा सत्यापित प्रति मिल जाने की उम्मीद है।

वहीं दूसरी तरफ सीबीआई की तरफ से उच्च न्यायालय के न्यायमूर्ति अपरेश कुमार सिंह की अदालत में जानकारी दी गई कि उनके अधिवक्ता की मां का निधन हो गया है, इसलिए और समय दिया जाए। इसके बाद कोर्ट ने मामले की सुनवाई 6 हफ्ते के लिए टाल दी। जबकि लालू के वकील प्रभात कुमार का कहना है कि आधी सजा को लेकर सर्टिफाइड कॉपी के लिए उनकी तरफ से आवेदन दिया गया था। लेकिन यह कॉपी अभी तक उपलब्ध नहीं हो सकी, जिसके चलते और समय देने का आग्रह किया गया। उन्होंने कहा, छह सप्ताह पूरा होने पर सुनवाई की अगली तिथि 22 जनवरी को निर्धारित होने की उम्मीद है। अदालत में आज लालू और सीबीआई दोनों के अधिवक्ताओं की ओर से सुनवाई की तिथि आगे बढ़ाने का अनुरोध किया गया, जिसे कोर्ट ने स्वीकार कर लिया।

गौरतलब है कि इससे पहले लालू प्रसाद की जमानत याचिका पर सीबीआई की तरफ से हाई कोर्ट में एक पूरक शपथपत्र दाखिल किया गया है। इस शपथपत्र में सीबीआई ने कहा है कि लालू प्रसाद की तरफ से लगातार जेल नियमावली का उल्लंघन किया जा रहा है और इस समय उनका स्वस्थ्य भी ठीक है। इसलिए अब उन्हें रिम्स, रांची से बिरसा मुंडा जेल में शिफ्ट कर देना चाहिए। बता दें कि लालू यादव न्यायिक हिरासत में रहते हुए बिहार के भाजपा विधायक को कथित तौर पर फोन करने के मामले में उनके खिलाफ पटना में एफआईआर दर्ज की गई है।

close