सहरसा: विकास कार्यों को लेकर सांसद दिनेश चंद्र यादव ने समीक्षा बैठक की


सहरसा: सांसद दिनेश चंद्र यादव की अध्यक्षता में जिला स्तरीय समन्वय एवं अनुश्रवण समिति ''दिशा" की बैठक आयोजित की. बैठक में विभागवार केन्द्र प्रायोजित योजनाओं का संक्षिप्त प्रगति प्रतिवेदन संबंधित विभाग के जिलास्तरीय पदाधिकारियों द्वारा प्रस्तूत किया गया. इस मौके पर तीन विधानसभा क्षेत्र के विधायक, जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक सहित सभी विभाग के अधिकारी मौजूद थे.

Saharsa
जिला स्तरीय विकास कार्यों को लेकर बैठक

लोकसभा के गठन के बाद पहली बैठक
जिलाधिकारी ने बैठक का शुभारंभ करते हुए कहा कि दो साल के अंतराल पर यह बैठक आयोजित की जा रही है और वर्तमान लोकसभा के गठन के बाद पहली बार इस बैठक का आयोजन किया जा रहा है. अध्यक्ष सह सांसद ने अपने संबोधन में कहा कि कोविड-19 के कारण नियमित बैठक नहीं हो पाई है. जिले का विकास कार्य अच्छी तरह से चल रहा है. बैठक के माध्यम से आमजन में संदेश जाएगा कि जिले के विकास के लिए सभी तत्पर हैं. सभी से अनुरोध है कि जिला प्रशासन द्वारा किये जा रहे विकास कार्य के क्रियान्वयन में आवश्यक सहयोग करें.

Saharsa
बैठक

मनरेगा की ली जानकारी
अध्यक्ष के निर्देश पर विभागवार केन्द्र प्रायोजित योजनाओं का संक्षिप्त प्रगति प्रतिवेदन संबंधित विभाग के जिलास्तरीय पदाधिकारियों द्वारा प्रस्तुत किया गया. मनरेगा में इस साल जिले का लक्ष्य 6 करोड़ 65 लाख 26 हजार मानव दिवस की जानकारी देते हुए उप विकास आयुक्त ने बताया कि लक्ष्य का 76 प्रतिशत उपलब्धि प्राप्त कर ली गई है और आगामी मार्च तक सौ फीसदी लक्ष्य प्राप्त कर लिये जाएंगे.

मुफ्त अनाज की समीक्षा
खाद्य आपूर्ति विभाग की समीक्षा में बताया गया कि माह नवंबर तक मुफ्त अनाज वितरण के लिए 80 प्रतिशत अनाज उठाव हुआ है. जिसे 30 दिसंबर तक वितरण कराने का निर्देश दिया गया है. दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना के संबंध में डीपीएम जीविका द्वारा बताया गया कि 19 हजार 865 समूह के गठन का लक्ष्य था. जिसके खिलाफ लक्ष्य के अधिक 20 हजार 732 समूहों का गठन किया गया और 17 हजार 400 समूहों का वितपोषण भी कराया गया.

सांसद ने दिए निर्देश
जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि यह काफी अच्छी योजना है और इसमें काफी संभावनाएं है. इसे आगे बढ़ाएंगे. इस परियोजना से जुड़े किसानों को प्रशिक्षण एवं तकनीकी सहायता देकर सफल बनाएं. वहीं, सांसद ने केंद्र प्रायोजित विभिन्न योजनाओं का समीक्षा करते हुए संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए.

close