नर्सिंग यूनियन की हड़ताल खत्म, एम्स प्रशासन ने भी रद्द किया वॉक इन इंटरव्यू


वेतन विसंगतियों समेत 21 सूत्रीय मांगों को लेकर पिछले दो दिनों से चल रहे एम्स नर्सिंग यूनियन का हड़ताल मंगलवार देर रात को समाप्त हो गया. दिल्ली हाई कोर्ट के आदेश का ही असर था कि एम्स प्रशासन ने देर रात तक नर्सिंग यूनियन के प्रतिनिधियों के साथ मैराथन मीटिंग की और आखिरकार दोनों पक्षों में सहमति बनने पर हड़ताल वापस ले लिया गया.

अस्थायी नर्सों की भर्ती के लिए वाक इन इंटरव्यू रद्द

दिलचस्प यह है कि जैसे ही दिल्ली हाई कोर्ट के आदेश के बाद हड़ताल को समाप्त करने का दबाव बना तो दोनों ही पक्षों ने आपस में मीटिंग कर सहमति बनने के बाद हड़ताल को वापस ले लिया गया. एम्स प्रशासन ने भी अस्थायी तौर पर नर्सेज भर्ती करने के लिए बुधवार सुबह को बुलाये गए वॉक इन इंटरव्यू को रद्द करने की देर रात सूचना जारी कर दी. एम्स द्वारा जारी नोटिस में बताया गया कि कॉन्ट्रैक्ट बेसिस पर नर्सेज की बहाली के लिए जो विज्ञापन निकाले गए थे, उसे तत्काल प्रभाव से रद्द किया जाता है.

नर्सेज यूनियन ने ओढ़ी खामोशी

विभिन्न मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर गए एम्स नर्सेज यूनियन कर अध्यक्ष हरीश कुमार काजला ने चारों तरफ से पड़े दबाव के बाद खामोशी की चादर ओढ़ ली. बताया जा रहा है कि नर्सिंग अधिकारी और यूनियन के बीच विश्वास की डोर टूट गई है. हड़ताल पर गए नर्सिंग अधिकारी हाईकोर्ट के आदेश के बाद से ही खुद को हड़ताल से अलग करने लगे. यूनियन में फूट पड़ता देख काजला ने हड़ताल वापस लेने में ही भलाई समझी.

close