अपने डेढ़ महीने के बच्चे को बेचने के लिए सड़क पर बैठी मां, वजह जान कांप जाएगी रूह


डेढ़ महीने के बच्‍चे को बेचने के लिए मजबूर हुई मां, वजह सुनकर आप हैरान रह जाएंगे

एक मां के लिए अपने बच्चे से बढ़कर कभी भी कुछ नहीं होता। हर मां अपनी औलाद के लिए सारी मुश्किलों का सामना करने के लिए तैयार हो जाती है लेकिन वह अपने बच्चे पर किसी भी तरह की परेशानी का साया भी नहीं पड़ने देना चाहती। लेकिन उत्तर प्रदेश के आगरा में एक मां अपनी ही औलाद को बेचने के लिए अस्पताल के बाहर बैठे नजर आई। जिसे देख हर कोई हैरान रह गया। दरअसल आगरा के एस.एन मेडिकल कॉलेज की इमरजेंसी के सामने एक महिला घंटों बैठी रही। यहां पर ये महिला अपने बच्चे को बेचना चाहती थी। वहीं, जैसे ही इस घटना की जानकारी प्रशानस को लगी। तो वह भी वहां पहुंच गए। लेकिन जैसे ही वहां मौजूद लोगों को महिला के इस कदम के कारण का पता चला। तो हर किसी की रूह कांप गई।

जानकारी के मुताबिक, महिला के इस कदम की जैसे ही जानकारी लगी। तो अस्पातल के बाहर समाजसेवी से लेकर प्रशासन के अधिकारी भी पहुंच गए। इतना ही नहीं, महिला के पास एस.एन मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल भी पहुंचे। वहीं, इन तमाम लोगों को देखने को बाद महिला ने अपनी स्थिति के बारे में सबको बताया। महिला के मुताबिक, वो बहुत गरीब है और उसका पति शराब के नशे में धुत रहता है। शराबी पति की हरकतों से वह काफी दुखी है। उसे अक्सर दौरे पड़ते है। जिस वजह से वह अपने डेढ़ महीने के बच्चे का पालन-पोषण करने में असमर्थ है। गरीबी की वजह से उसका बच्चा भी कुपोषण का शिकार हो रहा है। जिस वजह से वह बच्चे को बेचना चाहती है।

महिला ने बताया कि वह इस कदम को इसलिए उठा रही है ताकि उसका बच्चा जिसके पास भी रहेगा। वह स्वस्थ रहेगा। वहीं, महिला की आपबीति सुनकर हर कोई हैरान रह गया। हालांकि वहां मौजूद लोगों ने महिला को समझाने की कोशिश की। एडीएम सिटी प्रभाकांत अवस्थी ने बताया कि महिला की आर्थिक मदद की गई है। सदर थाने के एसओ जितेंद्र कुमार ने महिला को 11,000 रुपये दिए है। इसके अलावा प्रशासन महिला की मदद के लिए भी तैयार है। पुलिस और प्रशासन की पहल के बाद महिला के डेढ़ माह के बच्चे को एस.एन मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाया गया। बता दें कि महिला का एक लड़का भी है। जिसे उसकी जेठानी पाल रही है।

close