किसानों को उद्यानिकी फसलों के उत्पादन की ट्रेनिंग देगी सरकार


भोपाल, डेस्क रिपोर्ट
| खेती को लाभ का धंधा बनाने की दिशा में सरकार किसानों (Farmers) को उद्यानिकी फसलों (horticulture crops) के उत्पादन की ट्रेनिंग (Training) देगी| प्रदेश में उन्नत उद्यानिकी खेती को बढ़ावा देने के लिए यह निर्णय लिया गया है। उद्यानिकी एवं खाद्य प्र-संस्करण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) भारत सिंह कुशवाह (Bharat Singh Kushwaha) ने कहा है कि उद्यानिकी फसलों के उत्पादन की ट्रेनिंग किसानों को तहसील स्तर पर दी जाएगी।

मंत्री ने उद्यानिकी विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि तहसील स्तर पर अभियान चलाकर किसानों को प्रशिक्षण दिया जाये। इससे किसान सभी बारीकियों को समझ सकेंगे और खेती से लाभ कमा सकेंगे। राज्य मंत्री ने यह बात शिवपुरी जिले के ग्रामीण क्षेत्रों के भ्रमण के दौरान ग्राम के किसानों से चर्चा करते हुए कही। राज्य मंत्री श्री कुशवाह ने इस अवसर पर किसानों द्वारा उत्पादित की जा रही बैगन, शिमला मिर्च, टमाटर की खेती का निरीक्षण कर किसानों से जैविक खेती के संबंध में चर्चा की।

राज्य मंत्री कुशवाह ने कहा कि आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश के तहत हर जिले में उत्पाद का चयन किया जाना है। शिवपुरी में टमाटर की फसल अच्छी होती है, इसलिए शिवपुरी जिले का चयन टमाटर की फसल के लिए किया गया है। राज्य मंत्री श्री कुशवाह ने कहा कि जिला स्तर पर कोल्ड स्टोरेज बनाए जाएं जिससे किसानों की फसल खराब न हो और लंबे समय तक उत्पादों को सुरक्षित रखा जा सके। उन्होंने कहा कि किसानों को खेती का अच्छा लाभ मिले, इसके लिए किसानों को नई तकनीक के बारे में जानकारी दी जाना जरूरी है। उन्होंने कहा कि आवारा पशुओं से फसलों की सुरक्षा के लिए खेतों में तार फेंसिंग की जाना आवश्यक है। इससे किसानों की फसल खराब नहीं होगी।

close