नो मेंस लैंड पर नेपाल बना रहा था सड़क, SSB ने रोका


मधुबनी: भारत और नेपाल का संबंध सदियों से रोटी-बेटी का रहा है, लेकिन हाल के दिनों में दोनों देशों के रिश्ते में पहले जैसी गर्माहट नहीं रही. नेपाल भारत के साथ नए-नए मामले में पैर पसारकर विवाद उत्पन्न कर रहा है.

एक ऐसा ही मामला मधुबनी जिले की भारत-नेपाल सीमा का है. नो मेंस लैंड पर नेपाल सरकार द्वारा सड़क का निर्माण कराया जा रहा था, जिसे एसएसबी ने रोक दिया है. घटना लौकाही प्रखंड के कोरयाही गांव के पास की है. नेपाल द्वारा अंधरामठ थाना के पास पक्की सड़क बनाई जा रही थी. सीमा की रक्षा कर रहे एसएसबी के जवानों ने निर्माण कार्य रोक दिया. एसएसबी ने पत्र लिखकर जिला प्रशासन को सूचना दी है.

जल्द निकलेगा मामले का हल
एसएसबी 14 के कमांडेंट बीके यादव ने बताया "हमने जिलाधिकारी को इस घटना से अवगत करा दिया है. जिलाधिकारी मधुबनी ने एसडीओ फुलपरास के नेतृत्व में जांच टीम गठित कर दी है. जल्द से जल्द इस मामले का हल निकलने की उम्मीद है.

"नेपाल की तरफ से नो मेंस लैंड पर पक्की सड़क का निर्माण किया जा रहा है. यह पिलर नं. 231 और 232 के बीच का क्षेत्र है. सड़क निर्माण वाले इलाके की मापी के लिए लौकाही के सीओ को सूचित किया गया है. सीओ की तरफ से कहा गया है कि एक अप्रैल से पहले इलाके का सर्वे कर लिया जाएगा."- बीके यादव, कमांडेंट, एसएसबी 14

"दोनों देशों के बीच बेटी-रोटी का संबंध है. पुल और सड़क बन जाने से हमलोगों को सुविधा मिलेगी. सड़क बनाने से पहले इलाके की मापी होनी चाहिए. दोनों देश अपने अपने क्षेत्र में सड़क बनाएं."- राज कुमार झा, स्थानीय निवासी


close