उत्तर भारत में अभी और सताएगी ठंड, कम विजिबिलिटी के कारण 10 ट्रेनें लेट, जानिए आपके राज्य का क्या है हाल

 

ठंड का कहर

भारत के पहाड़ी इलाकों में जारी बर्फबारी के चलते उत्तरी भारत में शीतलहर का प्रकोप अभी जारी है। इस समय सर्द हवाएं, कोहरे और कड़ाके की ठंड से पूरा उत्तर भारत परेशान है। दिल्ली, यूपी, बिहार, झारखंड, पंजाब, हरियाणा समेत कई राज्यों में सुबह-शाम घना कोहरे से जूझना पड़ रहा है और उनके रोजमर्रा के कामों में दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। घने कोहरे के कारण ट्रेनों और फ्लाइट्स पर इसका असर देखा जा रहा है। शनिवार सुबह भी घने कोहरे के कारण कम विजिबिलटी के चलते 10 ट्रेनों की रफ्तार धीमी पड़ गई हैं। कोहरे के चलते कम विजिबिलिटी होने से ट्रेनें देरी से चल रही है। उत्तर रेलवे के अनुसार, आज यानी 30 जनवरी,  2021 को सुबह के वक्त कोहरे के कारण कम से कम 10 ट्रेनें अपने निर्धारित वक्त से देरी से चल रही हैं।

ठंड से अभी राहत नहीं 
मौसम विभाग के मुताबिक, फरवरी के पहले हफ्ते में पश्चिमी विक्षोभ के एक्टिव होने से पहाड़ों पर फिर ताजा बर्फबारी होने की आशंका है। उत्तर प्रदेश में ठंड और भी ज्यादा कहर ढाने वाला है। पहाड़ों से आने वाली ठंडी हवा की वजह से तापमान में गिरावट के साथ गलन बढ़ेगी और ठिठुरन भी बढ़ जाएगी। यानी लोगों को अभी और ठिठुरन भरी सर्दी का सामना करना पड़ेगा। वहीं राजधानी दिल्ली में भी अगले दो दिनों तक शीतलहर का प्रकोप जारी रहेगा।

कहां-कहां जारी रहेगा कोहरे का कहर
उत्तर भारत के ज्यादातर राज्यों में तापमान सामान्य से कम दर्ज किया जा रहा है। मौसम विभाग के मुताबिक,  पंजाब, यूपी, बिहार, पश्चिम बंगाल, सिक्किम के अधिकतर इलाके घना कोहरा छाया हुआ है। जबकि, मध्य प्रदेश, झारखंड और ओडिशा में हल्के से मध्यम कोहरा है।

बिहार में अलर्ट जारी
बिहार केअधिकतर हिस्सों में आज कोहरे व धुंध के साथ दिन की शुरुआत हुई। ऐसा अनुमान है कि 3 फरवरी तक बिहार के मुजफ्फरपुर में ऑरेज अलर्ट जारी किया गया है। इससे बिहारवासियों को अभी राहत नहीं मिलने वाली है आने वाले वक्त में यहां पर ठंड में और बढ़ोतरी होगी। पश्चिम से आने वाली हवाओं के कारण अभी एक-दो दिन तक सर्दी का कहर जारी रह सकता है।

उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में शीतलहर का सितम जारी
उत्तराखंड में स्थित मैदानी इलाकों में शीतलहर का कहर जारी है। अधिकतर शहरों का पारा सामान्य से दो से तीन डिग्री सेल्सियस नीचे चल रहा है। अल्मोड़ा और नैनीताल की बात करें तो यहां पारा शून्य से नीचे है। उधर उत्तर प्रदेश में भी यही स्तिथि है। यहां पर भी ठंड का कहर जारी है। उत्तर प्रदेश में राजधानी लखनऊ समेत कई इलाकों में घना कोहरा शीतलहर और ठंड का प्रकोप लगातार जारी है।

दिल्ली में पारा गिरा
राजधानी दिल्ली में शीतलहर के चलते पारा सामान्य से कम पर आ गया। मौसम विभाग ने अनुमान लगाया है कि शनिवार को न्यूनतम तापमान 4 डिग्री सेल्सियस रह सकता है, जोकि सामान्य से 5 डिग्री कम है। भारतीय मौसम विज्ञान के मुताबिक, जब मैदानी भाग में न्यूनतम तापमान  4 डिग्री तक चला जाता है, तो शीतलहर के बढ़ने का अनुमान होता है। वहीं राजधानी दिल्ली के प्रदुषण स्टार कि बात करें तो यहां हवा में प्रदूषण का स्तर (AQI) बहुत खराब श्रेणी में है।

कड़ाके की ठंड की वजह क्या है
सर्दी अधिक पड़ने का असल कारण है क्लाईमेट का चेंज होना। क्लाईमेट चेंज होने के कारण दुनियाभर में अधिक सर्दी भी पड़ रही है और अधिक गर्मी भी। पिछले कुछ वर्षों में ये लगातार देखने को मिल रही है। ये आने वाले समय में और बढ़ सकता है। इसी प्रकार से बाढ़ और सुखाड़ की स्थितियां भी हो सकती हैं। पूरी दुनिया में जलवायु परिवर्तन की के कारण बेकाबू परिस्थितियां बन सकती हैं।


close