शादी के 15 दिन बाद पति ने छोड़ा, हजार रु. की नौकरी कर खुद को संभाला और बन गई IAS अफसर


IAS-Komal-800x582

दूसरों के तानों से हारकर बैठ जाने वाले लोगों के आईएस कोमल गणात्रा प्रेरणा से कम नहीं हैं । जानें एक आम लड़की की अधिकारी बनने की कहानी । आईएस अधिकारी कोमल गणात्रा कुछ साल पहले दिशाहीन हो गईं थीं, शादी के सिर्फ 15 दिन ही बीते थे, कि पति छोड़ कर चले गए । दुनिया ने उनको ढांढस बांधने की जगह जमकर ताने सुनाए । कई मुश्किलों के बावजूद उन्‍होंने अपना सही रास्‍ता चुना, दुखों से पार पाकर अपने गम को ही ताकत बनाई और वो कर दिखाया जिसका पक्का इरादा किया था । गुजरात की कोमल गणात्रा ने भारतीय प्रशासनिक सेवा में कामयाबी हासिल की, अपना और अपने परिवार का नाम ऊंचा किया ।

कम उम्र में शादी, 15 दिन बाद ही छूटा साथा
कोमल गणात्रा, मूलरूप से गुजरात के अमरेली जिले की रहने वाली हैं । कोमल का जन्‍म 1982 में हुआ था । पढ़ाई गुजराती मीडियम से हुई, गुजराती लिटरेचर 
IAS-Komal-5में भी टॉपर रहीं । इसके बाद उन्‍होने 3 भाषाओं में अलग-अलग यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन पूरी की । 26 साल की उम्र में उनकी शादी एनआरआई से कर दी गई । न्यूजीलैंड के रहने वाले शैलेष के साथ कोमल ने भविष्‍य के सपने देखने शुरू ही किए थे । पति के खातिर सरकारी नौकरी IAS-Komal-1का मौका तक छोड़ दिया था । लेकिन शादी के 15 दिन बाद ही उसे दहेज के लिए प्रताड़ित करके घर से निकाल दिया। पति न्यूजीलैंड चला गया । कोमल ने न्यूजीलैंड सरकार से खूब गुहार लगाई, लेकिन पति को तलाश नहीं पाई । इसके बाद वो अपने माता-पिता के घर लौट आईं । लोगों ने खूब ताने मारे, तंज कसे ।

गुजरात लोक सेवा आयोग की नौकरी छोड़ी
शादी के समय कोमल ने गुजरात लोक सेवा आयोग
IAS-Komal-3 की परीक्षा पास कर ली थी, उन्‍हें इंटरव्‍यू के लिए बुलाया गया था । लेकिल शैलेष उन्‍हें अपने साथ न्‍यूजीलैंड ले जाना चाहता था । इस वजह से कोमल ने गुजरात लोक सेवा आयोग की परीक्षा IAS-Komal-6पास करने के बाद भी साक्षात्कार में हिस्सा नहीं लिया । पति के चले जाने के बाद कोमल ससुराल में तानों से परेशान होकर अपने घर लज्ञैट आईं । फिर से किताबों से दोस्ती की । एग्‍जाम्‍स की तैयारियां करने लगीं ।

माता-पिता का घर भी छोड़ा
कोमल गणात्रा एकाग्रता के लिए माता-पिता का घर छोड़कर एक ऐसे गांव में जाकर रहने लगी थीं, जहां न तो इंटरनेट था और न ही मैग्‍जीन । वोIAS-Komal-2 यूपीएससी परीक्षा की तैयारी करती रहीं, और एक निजी स्कूल में पढ़ाने भी लगीं । कोमल तीन बार असफल हुईं, लेकिन उन्‍होने हार नहीं मानीं । यूपीएससी 2012 की परीक्षा में वो 591वीं रैंक लेकर आईं, आईआरएस बनने में सफल हुईं । कोमल अभी रक्षा मंत्रलालय नई दिल्ली में एडमिनिस्‍ट्रेटिव IAS-Komal-4ऑफिसर की हैसियत से काम कर रही हैं। उन्‍होने दूसरी शादी भी की और वर्तमान में वो एक बच्ची की मां भी है ।

close