18 नहीं 21 साल हो लड़कियों की शादी की उम्र, बख्शे नहीं जाएंगे सीधी के दरिंदेः CM


भोपाल। सीधी में बीते दिन हैवानियत की हदें पार कर देने वाली घटना सामने आई है, इस घटना ने प्रदेश को झकझोर कर रख दिया है. वहीं सीएम ने आरोपियों पर सख्त कार्रवाई की बात कही. वहीं इस दौरान सीएम ने कहा कि शादी के लिए लड़कियों की उम्र 21 साल होनी चाहिए.

सीएम ने कहा कि अभी बेटियों की शादी की उम्र 18 साल है, लेकिन पूरी परिपक्वता के लिए उनकी उम्र बढ़ाकर 21 साल होनी चाहिए. सीएम ने कहा कि पीएम मोदी ने कई पोर्न जैसी बेवसाइट बंद कराई जो गलत थी, इसके लिए पीएम मोदी के लिए धन्यवाद करता हूं. वहीं सीएम ने कहा कि पोर्न एक ऐसी चीज है जो मानसिकता को बिगाड़ता है, इसके लिए भी क्या किया जा सकता है, इस बारे में भी सोचेंगे.

सीएम ने सख्त कार्रवाई के दिए निर्देश

भोपाल के मिंटो हॉल में महिला सुरक्षा को लेकर जन जागरूकता अभियान सम्मान कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने कहा कि मां बेटियों के सम्मान से खेलने वालों के खिलाफ सरकार बेहद सख्त है और ऐसे लोगों को छोड़ा नहीं जाएगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि महिला अपराध को जड़ से खत्म करने के लिए मानसिकता बदलने और जागरूकता लाने की जरूरत है. सरकार अपराधियों के खिलाफ बेहद सख्त है. बेटियों और महिलाओं की इज्जत से खेलने वालों को छोड़ा नहीं जाएगा.सीधी की घटना को लेकर सीएम शिवराज ने कहा कि घटना के सभी आरोपियों को पकड़ लिया गया है. इनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी.

क्या है घटना?

गौरतलब है कि जिन आरोपियों ने इस घिनौनी घटना को अंजाम दिया है वो उसी गांव के रहने वाले हैं. चार साल पहले महिला के पति की मौत हो गई थी. उसके बाद से महिला अपने दो बच्चों के साथ झोपड़ी में दुकान चलाकर अपना गुजारा कर रही थी. शनिवार रात तीन युवकों ने महिला को आवाज देकर पानी मांगा. महिला ने पानी न होने की बात कही तो आरोपी झोपड़ी के टटिए को तोड़कर अंदर घुस गए.

आरोपियों ने महिला के साथ दुराचार किया. दरिंदगी की हद तो तब हो गई जब दुराचार के बाद महिला के प्राइवेट पार्ट में लोहे का सरिया डाल दिया. जिससे रक्त स्त्राव होने के कारण वह बेहोश हो गई. उसके साथ में रहने वाली बहन ने ऑटो बुक कर अमिलिया थाना पहुंचाया. बताया जा रहा है कि जिस समय आरोपियों द्वारा इस वारदात को अंजाम दिया गया. उस समय उसकी छोटी बहन साथ में थी. लेकिन आसपास कोई बस्ती में नहीं था, जिसके चलते वह मदद की गुहार नहीं लगा पाई.

महिला की हालत गंभीर

महिला के गुप्तांग में सरिया डालने से रक्त स्त्राव दूसरे दिन भी बंद नहीं हुआ. जिसे प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र अमिलिया से जिला चिकित्सालय के लिए रेफर कर दिया गया. जहां अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अंजुलता पटले द्वारा रविवार को महिला का स्वास्थ्य जानने जिला चिकित्सालय पहुंची. पर रक्त स्त्राव बंद न होने के कारण उसे रीवा रेफर करवा दिया गया. जहां उस महिला का ऑपरेशन किया गया.हालत अब भी नाजुक बताई जा रही है.

close