पाकिस्तानी डिपलोमेट ने माना बालाकोट मारे गए थे 300 आतंकी, कराची में Blackout से पाकिस्तान दहशत में था

Imran_Khan_APcx1

कल पाकिस्तान में बड़ी अजीब घटना को देखने को मिली। 9 जनवरी की रात पूरा पाकिस्तान देश अंधेरे के साये में डूब गया। पाकिस्तान के Power Distribution System में गड़बड़ी आने से कराची, रावलपिंडी, लाहौर और मुल्तान जैसे बड़े शहरों में गुप अंधेरा छा गया! हैरानी की बात तो यह थी कि जैसे ही पाकिस्तान में यह Blackout हुआ, उसके तुरंत बाद पाकिस्तानी एयर फोर्स को हाई अलर्ट कर कर दिया गया! अंदेशा जताया गया कि कहीं अंधेरे का फायदा उठाकर भारतीय एयर फोर्स एक और airstrike ना कर दे! Twitter पर भी पाकिस्तानी यूजर्स इस बात का अनुमान लगाने लगे कि कहीं पाकिस्तान पर भारत कोई हमला ना बोल दे! स्पष्ट है कि वर्ष 2016 में जब से पाकिस्तान के खिलाफ भारत ने सर्जिकल स्ट्राइक्स की हुई हैं, तभी से पाकिस्तान हर दिन भारत के खौफ़ में जीने को मजबूर हो रहा है।

बता दें कि भारत अब तक दो बार पाकिस्तान के खिलाफ बड़े पैमाने पर सैन्य कार्रवाई कर चुका है। वर्ष 2016 में भारतीय सेना ने पाकिस्तान के आतंकी ठिकानों पर सर्जिकल स्ट्राइक की थी, तो वहीं वर्ष 2019 में भी भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में घुसकर आतंकवादियों के लॉन्चपैड पर गोले बरसाए थे। उसके बाद से ही पाकिस्तान में हर छोटी से बड़ी बात पर भारत के हमले का अंदेशा लगाया जाना शुरू हो चुका है। वह भी खासतौर पर तब जब हाल ही में पाकिस्तान के पूर्व राजनयिक Zafar Hilaly (ज़फ़र हिलाली) ने हाल ही में एक TV चैनल पर बैठकर यह स्वीकार किया कि पाकिस्तान में भारत की एयर स्ट्राइक के कारण करीब 300 आतंकवादी मारे गए थे।

यह पहली बार नहीं है जब पाकिस्तान में इस तरह की कोई घटना हुई हो और पाकिस्तान की आँखों में भारत का खौफ देखने को मिला हो! पिछले वर्ष जून महीने में जब कराची शहर में Blackout हुआ था, तो पाकिस्तानी लोगों ने हवा में फाइटर जेट्स के उड़ने की बातें सोशल मीडिया पर लिखना शुरू कर दी थी। पाकिस्तानी पत्रकारों ने भी तब ऐसी अफवाहों को खूब हवा दी थी कि कराची में blackout के दौरान भारत-पाक बॉर्डर पर गतिविधियां बढ़ गयी है।

ऐसा नहीं है कि भारत के इस खौफ में सिर्फ पाकिस्तान के आम लोग ही जी रहे हों, खुद पाकिस्तानी सरकार भी अब तक उन strikes के खौफ से बाहर नहीं निकल पाई है। उदाहरण के लिए पिछले वर्ष दिसंबर में UAE में जाकर पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने कहा था “मुझे पता चला है कि भारत पाकिस्तान के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक की प्लानिंग कर रहा है। यह एक गंभीर बात है। मुझे इस बात की भी जानकारी है कि भारत ने इसके लिए अपने महत्वपूर्ण सहयोगियों से अनुमोदन लेने की कोशिश की है, जिन्हें वे अपना साझेदार मानते हैं। भारत में बढ़ते गंभीर आंतरिक मुद्दों से ध्यान हटाने के लिए इस तरह की योजना बनाई जा रही है।”

यह बात सच है कि भारत अब कश्मीर में पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद के खिलाफ सख्त रुख अपनाकर आतंक के ठिकानों पर कार्रवाई करने से घबरा नहीं रहा है। भारत के पास भरपूर अंतर्राष्ट्रीय समर्थन भी हासिल है और भारत में मजबूत मोदी सरकार विद्यमान है। भारतीय सेना के पास भारत सरकार का भरपूर समर्थन हासिल है और यही कारण है कि भारत अब सुरक्षात्मक नीति को पीछे छोड़ अजीत डोभाल की Defensive Offence नीति को अपना रहा है। इसीलिए पाकिस्तान अब हर दिन बस डर के साये में जीने के लिए मजबूर हो चुका है और उसके लिए भविष्य में कोई राहत नज़र नहीं आने वाली!

source

close