पटना में पिछले साल 3 करोड़ रुपये का अवैध ई-टिकट जब्त, कई लोगों की गिरफ्तारी


पटना: पूर्व मध्य रेल में शामिल पटना जंक्शन अपने आप में व्यस्त जंक्शन है, जहां लाखों यात्री पहुंचते हैं. सुरक्षा व्यवस्था से लेकर कारोना गाइडलाइन तक के मुद्दों पर आरपीएफ इंस्पेक्टर विनोद कुमार सिंह ने ईटीवी भारत के सवालों का जवाब दिया. जिसमें उन्होंने कहा कि लॉकडाउन को चैलेंजिंग के रूप में लेकर जवानों ने काम किया है.

आरपीएफ इंस्पेक्टर का बयान
आरपीएफ इंस्पेक्टर ने कहा कि ट्रेनें सीमित थी इसके वाबजूद लोगों को कोरोना मापदंड का पालन कराना काफी मुश्किल था, लेकिन लगातार अभियान के तहत मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराया गया. वहीं, उन्होंने कहा कि अब लोगों में भी जागरूकता आया है. इस महामारी के बारे में समझा है ,लेकिन कोरोना काल काफी चैलेंजिंग रहा.

आरपीएफ जवान हमेशा तैनात
वहीं, पटना जंक्शन के सुरक्षा व्यवस्था के सवालों पर इंस्पेक्टर विनोद कुमार सिंह ने कहा कि आरपीएफ के जवान प्लेटफार्म से लेकर रेल परिषर में हमेशा अपने ड्यूटी में तैनात रहते हैं. हाथ में मेटल डिटेक्टर से चेक किया जाता है,

पिछले वर्ष लगभग 3 करोड़ का टिकट बरामद
फर्जीवाड़े तरीके से टिकट बनाने वाले पर आरपीएफ लगातार नजर बनाए हुए हैं. लगतार ऐसे साइबर फ्रॉड जो एक साथ कई टिकट काट दुगने दाम में बेचते हैं. उसपर नजर बनाए हुए हैं, वहीं, इंस्पेक्टर ने बताया कि पिछले वर्ष लगभग 3 करोड़ का टिकट बरामद किया गया था और ऐसे लोगों पर कारवाई भी की गयी थी. हाल ही में दो रोज पहले 22 लाख का ई- टिकट पकड़ा गया था.

close