कोरोना वैक्सीनेशन के बाद 52 लोगों को हुई एलर्जी, एक में दिखे गंभीर लक्षण

 

 नई दिल्ली। देश में शनिवार को दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू हुआ। पहले दिन करीब 1 लाख 91 हजार 181 स्वास्थ्यकर्मियों के साथ ही फ्रंट लाइन वर्कर्स को टीका लगाया गया। कोरोना वैक्सीन को लेकर कई सवाल उठ रहे हैं। अभी भी लोगों के मन में सवाल है कि, टीका सुरक्षित है या नहीं। इस बीच पिछले 24 घंटे में टीका लगवाने वाले 52 लोग सामने आए हैं, जिन्हे एलर्जी हुई है, जिसमे से एक में गंभीर लक्षण देखने को मिले हैं। एम्स के गार्ड को कोवैक्सीन का डोज दिया गया था, जिसके कुछ देर बाद ही उसमे एलर्जी देखने को मिली और उन्हें तुरंत हॉस्पिटल में भर्ती किया गया। एम्स के अधिकारी का कहना है कि, गार्ड को डॉक्टर की देख रेख में रखा गया है। शनिवार को एम्स में 95 स्वास्थ्यकर्मियों को कोरोना का पहला डोज दिया गया है।

दिल्ली सरकार के अनुसार, 52 लोग ऐसे थे, जिनमे कोरोना का टीका लगने के बाद एलर्जी रिएक्शन देखने को मिला है। एक में तो एलर्जी के गंभीर लक्षण देखने को मिले हैं। पहले दिन राजधानी में चार हज़ार से ज्यादा हेल्थ वर्कर्स वैक्सीन का पहला डोज दिया गया है। जो करीब अपने लक्ष्य से 50 प्रतिशत कम है। पहले ही दिन 8 हजार 117 को टीका लोगों को लगाने का सरकार का लक्ष्य था। राजधानी में 81 सेंटर्स पर टीकाकरण किया गया।

नई दिल्ली नगर निगम के अधिकारी का कहना है कि, NDMC के चरक पालिका अस्पताल में दो स्वास्थ्यकर्मियों में कोरोना वैक्सीन लगने के बाद हल्की एलर्जी देखने को मिली। उन्हें सीने में खिंचाव महसूस हो रहा था, जिन्हे करीब 30 मिनट तक ऑब्जरवेशन में रखा गया और बाद में छुट्टी दे दी गई। देश में वैक्सीनेशन अभियान के पहले दिन 3 लाख 15 हजार 37 लोगों को टीका लगाया जाना था लेकिन लक्ष्य सिर्फ 60 प्रतिशत ही पूरा हो पाया।

close