टेस्ट क्रिकेट में बिना रन आउट हुए सबसे ज्यादा रन बनाने वाले टॉप-5 बल्लेबाज


test-crickte

टेस्ट मैच जीतने के लिए गेंदबाजों का 20 विकेट लेना अनिवार्य है, यही कारण हैं की एक-एक की काफी अधिक अहमियत होती हैं. टेस्ट क्रिकेट में रनआउट एक क्राइम माना जाता हैं लेकिन कई बार क्रीज मौजूद बल्लेबाजों के बीच गलतफहमी हो जाती हैं और खिलाड़ी रनआउट होकर पवेलियन लौटता हैं. लेकिन आज इस लेख में हम 5 ऐसे खिलाड़ियों के बारे में जानेगे, जिन्होंने टेस्ट फॉर्मेट में बिना रन-आउट सबसे अधिक रन बनाने का कारनामा किया हैं.

5) जॉनी बेयरस्टॉ- 4030 रन (इंग्लैंड)

Jonny

इंग्लैंड के विकेटकीपर बल्लेबाज जॉनी बेयरस्टॉ इस सूची में पांचवे स्थान हैं. दाए हाथ के बल्लेबाज ने 70 टेस्ट मैचों की 123 पारियों में 34.74 की औसत से 4030 रन बनाये हैं, जिस दौरान उन्होंने 6 शतक और 21 अर्द्धशतक जड़े हैं. इंग्लैंड का ये खिलाड़ी टेस्ट क्रिकेट में अभी तक रनआउट नहीं हुआ हैं.

4) मुदस्सर नजर- 4114 रन (पाकिस्तान)

XA8X08kDQU

पाकिस्तान के पूर्व महान बल्लेबाज मुदस्सर अपने दौर के सबसे फिट खिलाड़ियों में से एक रहे हैं, यही कारण हैं कि वह कभी रनआउट न होने वाले खिलाड़ियों की सूची में शामिल हैं. नजर ने पाकिस्तान के खेले 76 मैचों में 37.74 की औसत से 4114 रन बनाए, इस दौरान उन्होंने 231 रनों के सर्वोच्च स्कोर सहित 10 शतक और 17 अर्द्धशतक भी लगाए.

3) डीन एल्गर- 4141 रन (साउथ अफ्रीका)

cricket-stadium-johannesburg-africa-africa-third-wanderers_d1835a1e-035e-11e8-8651-33050e64100a

श्रीलंका के विरुद्ध हाल में शतक लगाने के साथ ही साउथ अफ्रीका के सलामी बल्लेबाज डीन एल्गर इस सूची में तीसरे स्थान पर आ गए है. खब्बू बल्लेबाज अभी तक टेस्ट में रनआउट नहीं हुए हैं. डीन ने टेस्ट की 65 टेस्ट की 113 पारियों में 39.82 की औसत से 4141 रन बनाए हैं, जिसमे 13 शतक और 15 अर्द्धशतक हैं.

2) पॉल कॉलिंगवुड- 4259 रन (इंग्लैंड)

ee265-1536851801-800

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान और स्टार ऑलराउंडर पॉल कॉलिंगवुड अपने पूरे टेस्ट में कभी भी रन आउट नहीं हुए. इस खिलाड़ी ने 2003 से 2011 के बीच इंग्लैंड के लिए 68 टेस्ट मैचों में 40.56 की दमदार औसत से 4259 रन बनाए हैं, इस दौरान स्टार खिलाड़ी ने 10 शतक और 20 अर्द्धशतक लगाने का कारनामा भी किया.

1) कपिल देव- 5248 रन (भारत)

image_20130111152551

भारत के पूर्व महान कप्तान और ऑलराउंडर कपिल देव को अपने दौर का सबसे फिट खिलाड़ी माना जाता था. 16 वर्षों के अन्तराष्ट्रीय करियर में कभी भी कपिल ने चोट के कारण कोई भी मैच मिस नहीं किया और न ही कभी रनआउट हुए. दिग्गज ने 131 टेस्ट की 184 पारियों में 31.05 की औसत से 5248 रन बनाए, जिसमे 8 शतक और 27 अर्द्धशतक शामिल थे.

source- sportsgaliyara.com

close