63 साल के लम्बे इंतजार के बाद दूल्हा बना ये शख्स, ससुराल पहुंचते ही दुल्हन की हो गई मौत


वडोदरा (गुजरात)।
 आप सबने ये बात तो लोगों कहते हुए जरूर सुनी होगी की शादी किससे और कब होनी है भगवान् पहले से ही तय कर देते हैं। यह सब किस्मत का खेल होता है। कुछ ऐसा ही मामला गुजरात के वडोदरा से सामने आया है। यहां एक युवक किस्मत की बातें आज सभी कर रहे हैं। दरअसल, इस युवक ने अपने समाज की लड़की से शादी करने के चक्कर में लगभग चार दशक कुंवारे रहकर ही बिता दिए। अब उसे 63 साल की उम्र में उसने 40 साल की महिला से शादी रचा ली और उसकी जिंदगी में खुशियां आ गईं। मगर दुर्भाग्यवश यह खुशी उसके जीवन में 24 घंटे से अधिक नहीं टिकी। असल में, जब दुल्हन ने ससुराल में कदम रखा तो अचानक ही उसकी मौत हो गई।

63 वर्षीय कल्याणभाई रबारी और 40 वर्षीय लीलाबेन की सोमवार को खूब धूमधाम से शादी हुई थी। इस विवाह से दोनों बेहद खुश थे, इनमें ज्यादा खुश युवक था क्योंकि उसे लम्बे इन्तजार के बाद उसे जीवनसाथी मिला। मगर ये तो किसी को नहीं पता था कि उसकी किस्मत में पत्नी का सुख लिखा ही नहीं है। शादी के एक दिन बाद जब मंगलवार को दुल्हन लीलाबेन ससुराल पहुंची और रस्मों के दौरान ही वह अचानक चक्कर खाकर गिर पड़ी। फ़ौरन ही कल्याण अपनी नई नवेली पत्नी को हॉस्पिटल लेकर पहुंचा, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

बता दें कि सोमवार के दिन जब 40 साल की उम्र में लीलाबेन की विदाई हुई तो उसके परिवार वाले बहुत खुश थे। सब यही कह रहे थे कि इतने सालों के बाद बेटी का घर बस ही गया। मगर उनको क्या मालूम था कि ये बेटी की अंतिम विदाई है। क्या पता था कि जिसे वह लाल जोड़े में सजाकर सुसराल भेज रहे हैं वह इसी जोड़े में हमेशा-हमेशा के लिए दुनिया को अलविदा कह देगी।

आपको बता दें कि कल्याण रबारी गाय के दूध को बेचकर अपना घर चलाते हैं। उनका एक छोटा भाई मानसिक रूप से बीमार रहता है। उनकी एक बहन है जो विधवा है। कल्याण रबारी पिछले 30-35 सालों से अपनी शादी के लिए समाज की लड़की तलाश रहे थे। उन्होंने तय किया था कि वह विवाह करेंगे तो अपनी समाज की लड़की से ही, नहीं तो सारी जिंदगी कुवांरे ही बैठे रहेंगे।

close