AUS V IND:'एक ही दिल है कितनी बार जीतोगे', 161 गेंद खेलकर ड्रेंसिग रूम तक लंगड़ाकर गए थे हनुमा विहारी

 

Hanuma Vihari could not walk properly while going back into the dressing room

AUS vs IND: भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सिडनी के मैदान पर तीसरे टेस्ट मैच के दौरान हनुमा विहारी ने अपने रक्षात्मक खेल से सभी का दिल जीत लिया। कठिन परिस्थितियों में विहारी ने 161 गेंदों का सामना किया और मैच ड्रॉ करवाने में अहम योगदान दिया। बल्लेबाजी के दौरान हनुमा विहारी काफी असहज नजर आ रहे थे और उन्हें रन लेने मे काफी दिक्कत हो रही थी।

तकलीफ के बावजूद विहारी मैदान से बाहर नहीं गए और बल्लेबाजी करते रहे। मैच खत्म होने के बाद जब वह ड्रेंसिग रूम में जा रहे थे तब उन्हें देखकर यह साफ पता चल गया कि वह कितनी तकलीफ में हैं। हनुमा विहारी ड्रेंसिग रूम में लंगड़ाकर जा रहे थे और उनसे ठीक से चला तक नहीं जा रहा था। इस दौरान हनुमा विहारी अपने बल्ले का सहारा लेकर चल रहे थे।

ऐसे हालात में भी हनुमा विहारी ने टीम का साथ नहीं छोड़ा और खुदको जोखिम में रखते हुए बल्लेबाजी जारी रखी। हनुमा विहारी को बल्लेबाजी के दौरान मांसपेशियों में खिंचाव महसूस हुआ था। फिलहाल वह ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ब्रिस्बेन में होने वाले चौथे टेस्ट मैच से बाहर हो चुके हैं। टीम इंडिया को हनुमा विहारी की कमी काफी खलेगी।

वहीं अगर सिडनी टेस्ट मेच की बात करें तो हनुमा विहारी ने 161 गेंदों का सामना करते हुए 14.29 की स्ट्राइक रेट के साथ 23 रन बनाए थे। बॉर्डर-गावस्कर सीरीज के पहले तीन टेस्ट मैच खत्म हो चुके हैं और सीरीज 1-1 की बराबरी पर है। गाबा के मैदान पर होने वाला टेस्ट मैच काफी महत्वपूर्ण होगा क्योंकि जो भी टीम इस मुकाबले को जीतेगी वह सीरीज अपने नाम करेगी।


close