AUSvIND:'या तो बर्बाद कर दो या फिर आबाद कर दो', मौके को भुनाना कोई शार्दुल ठाकुर से सीखे

  

shardul thakur helps india to fight back in Brisbane Test

India vs Australia 4th Test: टेस्ट टीम में टीम इंडिया का हिस्सा बनना हर खिलाड़ी का सपना होता है लेकिन बहुत ही कम ऐसे खिलाड़ी होते हैं जिनके नसीब में यह खुशी लिखी होती है। कुछ खिलाड़ी टेस्ट टीम में मिले मौके को भुनाने में कामयाब होते हैं तो कुछ के हाथ मायूसी लगती है। लेकिन इन सबसे अलग नंबर आता है तेज गेंदबाज शार्दुल ठाकुर का।

शार्दुल ठाकुर ने चौथे टेस्ट मैच में मिले मौके को दोनों हाथों से लपका है और न सिर्फ अपनी गेंदबाजी बल्कि बल्लेबाजी से भी छाप छोड़ने में कामयाबी पाई है। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ठाकुर ने धारधार गेंदबाजी करते हुए 3 विकेट लिए वहीं पहली पारी में टीम इंडिया की तरफ से टॉप स्कोरर भी ठाकुर ही रहे।

शार्दुल ठाकुर ने शानदार 67 रनों की पारी खेली। मालूम हो कि शार्दुल ठाकुर टेस्ट सीरीज में टीम का हिस्सा नहीं थे लेकिन कई खिलाड़ियों के चोटिल होने के बाद उन्हें टीम में शामिल किया गया था। वहीं अगर मैच की बात करें तो ऋषभ पंत के आउट होने के बाद टीम इंडिया का स्कोर 186 पर 6 हो गया था लेकिन उसके बाद मैच में जो कुछ भी देखने को मिला उसने सभी को हैरान कर दिया। शार्दुल ठाकुर ने वॉशिंगटन सुंदर के साथ मिलकर मोर्चा संभाला और टीम इंडिया को मुसीबत से बाहर निकाल दिया। 

बता दें कि भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच ब्रिसबेन के मैदान पर चौथे टेस्ट मैच के तीसरे दिन का खेल खत्म होने पर ऑस्ट्रेलिया ने अपनी दूसरी पारी में बिना किसी विकेट के 21 रन बना लिए हैं। ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी में बढ़त 54 रनों की हो गई है। ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी के 369 रनों के जवाब में टीम इंडिया ने पहली पारी में 336 रन बनाए हैं। 

source

close