‘Biden एक कमजोर राष्ट्रपति हैं’, COVID-stimulus बिल के प्रस्ताव को रिजेक्ट कर डमोक्रेट्स ने ये साबित भी कर दिया है

  


अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन के सबसे महत्वाकांक्षी योजना पर उनके ही साथी डेमोक्रेट्स अब असहमति जता रहे हैं। अमेरिकी नागरिकों को 1.9 ट्रिलियन डॉलर के अतिरिक्त Stimulus पैकेज देना बाइडन की सबसे महत्वाकांक्षी योजनाओं में से एक थी लेकिन बाइडन को अब अपनी ही पार्टी के सीनेटरों को समझाने की आवश्यकता पड़ रही है क्योंकि लिबरल डेमोक्रेट्स यह संकेत दे रहे हैं कि उन्हें अपने राष्ट्रपति के प्रोत्साहन पैकेज पर भरोसा नहीं है।

बाइडन के प्रेसीडेंसी में अब तक उन नीतियों पर ही काम हुआ है जो या तो डोनाल्ड ट्रम्प की नीतियों के उलट हैं या लेफ्ट लिबरल के आदर्शों को बढ़ावा देते हैं। चाहे वो उनकी आर्थिक नीति हो या, खेल में लिंग के लिए नीति, या फिर अवैध इमिग्रेशन या घरेलू चरमपंथ पर किसी प्रकार की नीति। ये बाइडन के लोकतंत्र के दृष्टिकोण को नहीं दिखाते, बल्कि वामपंथी डीप स्टेट की छवि को दर्शाते हैं, जो अमेरिकी राष्ट्रपति को अपने धुन पर नचा रहा है।

बाइडन राष्ट्रपति के तौर पर अपने तीसरे दिन गरीब अमेरिकियों के लिए खाद्य सहायता में सुधार के लिए कार्यकारी आर्डर पर हस्ताक्षर करेंगे और COVID-19 से निपटने के लिए संघर्ष कर रही अर्थव्यवस्था के लिए, राष्ट्रीय न्यूनतम-वेतन वृद्धि जैसे मुद्दों पर निर्णय लेने वाले हैं। परन्तु अब सभी का ध्यान बाइडन के $ 1.9 ट्रिलियन डॉलर के प्रोत्साहन राहत पैकेज पर आ चुका है।

इस सप्ताह इस पैकेज को कांग्रेस में चुनौतियों का सामना करना पड़ा, जब उदारवादी रिपब्लिकन ने यह कहते हुए विरोध किया कि पिछले महीने के  900 बिलियन डॉलर के बाद एक और बड़े खर्च के लिए जल्दबाजी करने की कोई आवश्यकता नहीं है। सीनेटर सुसान कोलिन्स नए पैकेज के विरोध में आने वाले सबसे नए सीनेटर है, जबकि GOP Leadership के सदस्य सीनेटर Roy Blunt ने इसे “नॉन-स्टार्टर” कहा।

डेमोक्रेट्स कांग्रेस और सीनेट दोनों में बहुसंख्यक हैं लेकिन अब लिबरल डेमोक्रेट्स ही इस बिल पर अपनी सहमती देने से इनकार कर रहे हैं। ऐसा लगता है कि बाइडन के लिए सबसे अधिक वोट दिलाने वाला ‘प्रोत्साहन पैकेज’ आने से पहले ही मृत हो गया।

ऐसा प्रतीत होता है कि खुद बाइडन के पास महामारी को रोकने के लिए कोई उचित योजना नहीं है। उन्होंने अमेरिका को महामारी के सबसे बुरे दिनों के लिए तैयार होने की चेतावनी दी। उन्होंने यह भविष्यवाणी की कि अगले महीने तक 100,000 से अधिक अमेरिकियों की मृत्यु हो सकती है क्योंकि वह federal coronavirus response को सुधार करते करते हुए और अधिक सहायता के लिए कांग्रेस पर दबाव बनाने की कोशिश कर रहे हैं।

लेकिन अमेरिका के लिए “युद्धकाल” जैसी स्थिति मानने के बाइडन की दलील से पुनर्गठित कांग्रेस प्रभावित नहीं हुई जहां रिपब्लिकन द्वारा 1.9 ट्रिलियन डॉलर की महामारी राहत योजना का विरोध किया गया। यहां तक ​​कि कुछ लिबरल डेमोक्रेट्स ने स्पष्ट किया कि वे नए राष्ट्रपति के दृष्टिकोण पर सहमती नहीं देंगे।

बाइडन ने ट्रंप पर हमला करते हुए Stimulus पैकेज को प्रस्तावित किया था। बाइडन ने कहा था कि महामारी को हुए 8 महीने हो चुके हैं लेकिन ट्रम्प प्रशासन घरेलू स्तर पर स्थिति की जाँच करने में विफल रही है। उन्होंने 400,000 अमेरिकी नागरिकों की मौत के लिए डोनाल्ड ट्रम्प को दोषी ठहराया।

चुनाव परिणामों के बाद, बाइडन ने अपने राहत बिल पर जोर दिया था। हालांकि, रिपब्लिकन सीनेटरों को अभी तक इस सौदे के बारे में सूचित नहीं किया गया है। सीनियर सीनेट रिपब्लिकन्स का कहना है कि उनका समर्थन पाने के लिए बाइडन टीम का प्रयास बहुत कम है। बाइडन का राहत पैकेज लगभग 2 ट्रिलियन डॉलर तक है और यह लिबरल एजेंडा से भरा हुआ है जैसे कि संघीय न्यूनतम वेतन में  15 डॉलर प्रति घंटे की बढ़ोतरी किसी बिल पर स्वयं के डेमोक्रेट्स का समर्थन पाने में असमर्थता एक कमजोर नेता की निशानी है। इस बिल पर हस्ताक्षर करने की डेमोक्रेट्स की अनिच्छा इस बात का स्पष्ट संकेत है कि इस पार्टी को अपने राष्ट्रपति पर कितना कम विश्वास है।

रिपब्लिकन के समर्थन के बिना और अब अपने स्वयं के डेमोक्रेट के समर्थन के बिना, बाइडन की Stimulus पैकेज अधर में लटका हुआ है। एक तरफ अमेरिकी नागरिक पैकेज को लेकर उत्साही है क्योंकि वे महामारी से पीड़ित हैं। नागरिकों को पैकेज प्रदान करने में विफल रहना बाइडन की पहली बड़ी हार होगी और जिस तरह से चीजें अभी चल रही हैं, Stimulus पैकेज का वास्तविकता में बदलना नामुमकिन ही लग रहा है।

source

close