मस्जिद के चंदे के लिए खंडवा आये दो कश्मीरी युवक लापता


खंडवा। देशभर में एक ओर राम मंदिर निर्माण के लिए धन जुटाने के लिए अभियान चलाए जा रहे हैं. तो वहीं दूसरी ओर दो कश्मीरी युवक मस्जिद के लिए चंदा जुटाने के लिए मध्यप्रदेश के खंडवा पहुंचे. जहां दोनों युवाओं ने खंडवा के अलग-अलग जगहों पर चंदा जुटाया लेकिन दोनों युवक अचानक गायब हो गये है. जब युवकों के लापता होने की सूचना परिजनों के पास पहुंची तो उन्होंने इसकी जानकारी स्थानीय खंडवा पुलिस को दी. लेकिन अभी तक उनका कोई पता नहीं चल पाया है. चिंता में डूबे परिजनों ने आज खंडवा पहुंचकर पुलिस से गुहार लगाई है. वहीं खंडवा पुलिस के मुताबिक दोनों युवकों की लास्ट लोकेशन खंडवा में पाई गई है.

खंडवा के कोतवाली थाने में बैठे ये कश्मीरी अपने भाई की तलाश में यहां पहुंचे हैं. दरअसल चार जनवरी को कश्मीर से चंदे के निकले इकबाल और मुंशी की आखिरी लोकेशन 18 जनवरी को खंडवा में थी. परिजनों के मुताबिक दोनों लापता युवाओं से लगातार बातचीत हो रही थी. 18 जनवरी को जब आखिरी बार बातचीत हुई तो बताया था कि खंडवा के कोतवाली थाने में वेरिफिकेशन के लिए आए थे. उन लापता युवकों की यह आखिरी बातचीत थी. वहीं खंडवा पहुंचे परिजनों ने बताया कि कि उन्हें चिंता हो रही है कि उनके दोनों भाईयों का अब तक कोई पता नहीं चल सका है. परिजनों के अनुसार लापता दोनों युवकों की तलाश के लिए जम्मू-कश्मीर के राजनेताओं से भी संपर्क किया गया है. उसके बाद ही वे यहां खंडवा पहुंचे हैं.

कश्मीरी युवकों के लापता होने के मामले में सीएसपी ललित गठरे का कहना है कि पुलिस ने दो युवकों के लापता होने का मामला दर्ज कर लिया है. पुलिस उनकी तलाश कर रही है. पुलिस ने यह भी बताया कि लापता युवकों को डाक्यूमेंट वेरिफिकेशन के लिए थाने बुलाया गया था जिसके बाद वे यहां से चले गए थे. गौरतलब है कि खंडवा मध्य प्रदेश के अतिसंवेदनशील जिलों की सूची में शामिल है. ऐसे में कश्मीरी युवकों के लापता होने से पुलिस के लिए चुनौती
खड़ी हो गई है.

close