घायल पुलिसकर्मी ने सुनाई आपबीती, प्रदर्शनकारियों को लेकर किए चौकाने वाले खुलासे


नई दिल्ली। ट्रैक्टर रैली के दौरान कल लाल किला पर हुई हिंसा में कई चौकाने वाले खुलासे हो रहे हैं। लाल किला पर हुई हिंसा में घायल पुलिसकर्मी ने खुलासा करते हुए बताया कि प्रदर्शनकारी हथियार लेकर घुसे थे। वजीराबाद के एसएचओ ने आपबीती सुनाते हुए कहा कि हिंसा के दौरान उनकी तैनाती लाल किला पर थी। इसी दौरान तोड़फोड़ करते हुए प्रदर्शनकारी जबरन लाल किला के अंदर घुस आए। उन्होंने बताया कि उपद्रवी लाल किला में घुसने के बाद रैमपैंट पर चले गए। हम लोगों ने जब उनको रोकने की कोशिश की तो वो लोग नाराज हो गए। इन प्रदर्शनकारियों के पास तलवार, भाले, डंडे सहित कई अन्य हथियार भी थे। इन लोगों ने पुलिसवालों पर हमला बोल दिया। इस दौरान हमारे कई साथ घायल हो गए, इसमें एक साथी काफी गंभीर रूप से जख्मी हो गया। मुझे लगा इसका भीड़ से बचाना चाहिए और मैंने प्रदर्शनकारियों से कहा- इसे अस्पताल ले जाने दो।

हम उसका लेकर निकल ही रहे थे कि इन लोगों ने हम पर भी हमला बोल दिया। इतनी भीड़ में इन लोगों ने हमारी एक भी न सुनी। इस दौरान हमने बॉडी प्रोटेक्टर भी नहीं पहना हुआ था। सिर पर केवल हेलमट था, लेकिन किसी ने तलवार मार दी, जिससे वह भी टूट गया और उसके बाद मैं भी बेहोश हो गया। एसएचओ ने कहा कि हमने प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए फोर्स का उपयोग नहीं किया, क्योंकि हमें लग रहा था कि ये सब किसान है। उन्होंने कहा, हमने अगर फोर्स का इस्तेमाल किया होता तो कई जानें जा सकती थी। हमारे कई साथी घायल हुए है, लेकिन हमने केवल इन्हें रोकने की कोशिश की। क्योंकि हम लोग अगर जवाबी कार्रवाई करते तो काफी नुकसान हो सकता था।

बता दें कि कल प्रदर्शनकारियों ने लाल किला में घुकर जमकर हंगामा काटा था। टिकट काउंटर के साथ ही उपद्रवियों ने प्रवेश गेट पर भी जमकर तोड़फोड़ की दी। उपद्रवियों ने लाखों रुपए के एक्सरे मशीनों को भी क्षतिग्रस्त कर दिया है। यह पर तैनात सुरक्षाकर्मियों ने इन प्रदर्शनकारियों को रोकने की कोशिश की, लेकिन वह संख्या बल के हिसाब से कम पड़ गए। उकसाऊ नारेबाजी करते हुए प्रदर्शनकारियों ने टिकट काउंटर और प्रवेश गेट पर लगे शीशों को भी तोड़ डाला। तोड़फोड़ करते हुए प्रदर्शनकारी लाल किला के प्राचीर तक पहुंच गए और यहां के सभी गलियारों पर अपना कब्जा जमा लिया।

close