किसानों के हिंसक प्रदर्शन के बाद राहुल गांधी ने मोदी सरकार से की ये मांग, पढ़िए उनका ट्वीट


वैसे तो राहुल गांधी शुरू से ही किसानों के आंदोलन का पक्ष लेते हुए केंद्र सरकार से तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग करते हुए आ रहे हैं,  लेकिन कल किसानों के हिंसक प्रदर्शन के बाद उन्होंने जो ट्वीट किया है, वो अभी खासा चर्चा में है। उन्होंने न महज एक बार फिर से केंद्र सरकार से कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग की बल्कि महात्मा गांधी का हवाला देते हुए यह भी कहा कि हिंसा किसी बात का हल नहीं हो सकता। बता दें कि उनका यह ट्वीट तब सामने् आया, जब कल किसानों ने राजधानी दिल्ली में हिंसक प्रदर्शन किया। यहां तक की लाल किले की प्राचीर से  तिरंगा झंडा को हटाकर समुदाय विशेष का झंडा भी लगाया गया। 

किसानों के इस हिंसक रवैये पर राहुल गांधी ने कहा कि हिंसा किसी बात का हल नहीं होता है। उन्होंने कहा कि विनम्र तरीके से आप पूरी दनिया हिला सकते हैं। उन्होंने एक बार फिर से मोदी सरकार से कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग की है। इससे पहले भी उन्होंने गणतंत्र दिवस के मौके पर ट्वीट कर कहा था कि हिंसा किसी बात का हल नहीं है। चोट  किसी को भी लगे नुकसान हमारे देश का ही होगा। देशहित के लिए कृषि कानून वापस लिए जाए। राहुल  का यह ट्वीट अभी सोशल मीडिया की दुनिया में चर्चा में बना हुआ है। लोग इस पर अलग-अलग तरह से अपना रिएक्शन देते हुए नजर आ रहे हैं।

बता दें कि पिछले तीन माह से किसान तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलित हैं। वहीं सरकार  से अब तक किसान नेताओं की 10वें दौरे की वार्ता हो चुकी है, लेकिन अभी तक यह सभी वार्ता बेनतीजा रहीं। लिहाजा, अंतिम दौरे की  वार्ता में स्थिति ऐसी बन गई कि सरकार को सख्त रूख दिखाना पड़ गया। इतना ही नहीं, सरकार ने किसानों को डेढ वर्ष तक कृषि कानूनों को निलंबित करने का प्रस्ताव दिया था, लेकिन किसानों ने सरकार के इस प्रस्ताव को सिरे से खारिज कर दिया।

close