अटल के मंत्री ने अर्णब गोस्वामी को कहा ‘सरकार का दल्ला’, इतने में तो सरकार गिर सकती थी!

  

अटल के मंत्री ने अर्णब गोस्वामी को कहा ‘सरकार का दल्ला’, इतने में तो सरकार गिर सकती थी!

रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के संपादक अर्णब गोस्वामी तथा बार्क के पूर्व सीईओ पार्थो दासगुप्ता के बीच कथित व्हाट्सएप्प चैट लीक होने के बाद अब कई लोग इस पर सवाल उठा रहे हैं, इस बीच अटल सरकार में वित्त मंत्री रहे यशवंत सिन्हा ने अर्णब गोस्वामी को सरकार का दल्ला कहा है, इससे पहले कांग्रेस तथा विपक्षी पार्टियों के कई नेताओं ने भी अर्णब और बीजेपी सरकार के सांठगांठ पर सवाल खड़े किये हैं।


कम नहीं हो रही मुश्किलें
दरअसल व्हाट्सएप्प चैट लीक होने के बाद से अर्णब गोस्वामी की मुश्किलें कम होती नहीं दिख रही है, इसी को लेकर पूर्व बीजेपी नेता तथा अटल सरकार में मंत्री रहे यशवंत सिन्हा ने अर्णब गोस्वामी पर हमला बोला है, 
उन्होने पत्रकार को दल्ला कहा है, साथ ही ये भी कहा है कि अगर ऐसे मामले किसी दूसरे देश में होते, तो अब तक उस देश की सरकार भी गिर सकती थी, हालांकि वायरल चैट के मामले में अर्णब ने एक बयान जारी किया है।
कांग्रेस के भी निशाने पर
अर्णब गोस्वामी और बीजेपी सरकार के गठजोड़ पर सवाल उठाने वाले यशवंत सिन्हा अकेले नहीं हैं, यशवंत के अलावा कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने भी दो दिन पहले ट्वीट करके कहा था कि अगर मीडिया के एक धड़े की रिपोर्टिंग सही है, तो सवाल ये है कि बालाकोट स्ट्राइक तथा 2019 आम चुनाव के बीच कोई संबंध है, क्या चुनाव में फायदे के लिये राष्ट्रीय सुरक्षा को मुद्दा बनाया गया, इसकी संयुक्त संसदीय समिति से जांच होनी चाहिये। वहीं कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने भी ट्विटर पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को टैग करके पूछा है कि क्या असल स्ट्राइक से तीन दिन पहले एक पत्रकार को जवाबी हमले के बारे में पता था, यदि हां तो इस बात की क्या गारंटी है, कि उनके स्त्रोतों ने पाक के साथ काम करने वाले जासूसों या मुखबिरों समेत अन्य लोगों के साथ भी जानकारी साझा नहीं की होगी, राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ी गोपनीय निर्णय की जानकारी सरकार-समर्थक पत्रकार को कैसे मिली।

केस दर्ज
टीआरपी रेटिंग्स से छेड़छाड़ के मामले में मुंबई पुलिस ने कुछ दिनों पहले 8 अक्टूबर 2020 को एक केस दर्ज किया था, 
मामले में अर्णब गोस्वामी को भी आरोपी बनाया गया था, इस मामले में मुंबई पुलिस ने रिपब्लिक टीवी के एडिटर अर्णब के खिलाफ एक चार्जशीट दायर की थी, चार्जशीट में ही पार्थो दासगुप्ता तथा अर्णब के बीच हुई व्हाट्सएप्प चैट को शामिल किया गया है।

close