इसलिये पैदल मार्च करती है ममता बनर्जी, टीएमसी सुप्रीमो को कार से रैलियां करना क्यों नहीं है पसंद?

  

इसलिये पैदल मार्च करती है ममता बनर्जी, टीएमसी सुप्रीमो को कार से रैलियां करना क्यों नहीं है पसंद?

ममता बनर्जी पश्चिम बंगाल की 8वीं सीएम हैं, ममता साल 2011 में राज्य की मुख्यमंत्री बनी थी, पिछले करीब दस सालों से वो प्रदेश की मुख्यमंत्री हैं, इसके साथ ही ममता बनर्जी करीब तीस सालों से बंगाल की राजनीति में सक्रिय हैं, वो अपने रोड शो पैदल ही करती हैं, इसके पीछे का कारण उन्होने खुद ही बताया था, कि वो अपनी रैलियां कार से क्यों नहीं करती हैं।

कार से रैली क्यों नहीं
टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी ने साल 2019 में एबीपी आनंदा को दिये इंटरव्यू में बताया था कि उन्हें गाड़ियों से रैली करना बिल्कुल पसंद नहीं है, 
owaisi mamta03
वो कार रैली की जगह पैदल मार्च करते हुए रोड शो करना ज्यादा पसंद है, इससे ज्यादा लोगों से मिल-जुल पाती हैं।

ज्यादा फायदा
ममता बनर्जी के मुताबिक पैदल मार्च करने का फायदा ये होता है, कि इससे लोगों से मेल-मिलाप बढता है, साथ ही वो आम लोगों से सीधे रुप से कनेक्ट कर पाती हैं, 
mamta 1
इसी वजह से वो कार से रैली या रोड शो करने के बजाय पैदल मार्च को ज्यादा पसंद करती हैं।

पैदल चलती हैं
टीएमसी मुखिया ने बताया कि आमतौर पर वो 5-6 किमी का पैदल मार्च आसानी से कर लेती हैं, आपको बता दें कि ममता बनर्जी को संघर्ष की उपज माना जाता है, 
उन्होने सालों तक वाम मोर्चे की राजनीति के खिलाफ संघर्ष किया, तथा बंगाल में उनका किला ढहाया, पिछले दस साल से वो मुख्यमंत्री हैं, माना जा रहा है कि इस बार विधानसभा चुनाव में टीएमसी की टक्कर बीजेपी से हो सकती है।

close