हरभजन सिंह अब स्थापित कर रहे नए कीर्तिमान, अब क्रिकेट में नहीं फेक न्यूज़ के होंगे शहंशाह

  


क्रिकेट की 22 गज की पिच पर गेंद को स्पिन कराने वाले भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व गेंदबाज हरभजन सिंह यानी भज्जी ने अब जनहित से जुड़ी खबरों को भी बेतुका स्पिन देना शुरू कर दिया है। हरभजन ने  कुछ समय पहले ही एक ट्वीट कर कहा था कि देश को वैक्सीन की आवश्यकता ही नहीं है, क्योंकि लोग तो ऐसे ही ठीक हो ही जा रहे हैं। इसके बाद अब उन्होंने एक तस्वीर को बिना सोचे समझे शेयर करते हुए ये बोल दिया कि सरकारी अधिकारी वैक्सीन लगवा ही नहीं रहे हैं बल्कि वो बस नौटंकी कर रहे हैं, जबकि उनकी ये बात पूरी तरह से फेक न्यूज थी।

दरअसल, हाल ही में उन्होंने एक फोटो शेयर की और उसको लेकर आरोप लगाया कि देश में वैक्सीनेशन के नाम पर नेता और अधिकारी ढोंग कर रहे हैं। उनका कहना है कि नेता केवल वैक्सीन लगवाने के नाम पर फोटो ही खिचवा रहे हैं, जबकि वैक्सीन नहीं लगवा रहे हैं। जबकि उस फोटो की असलियत कुछ और ही है। हरभजन ने जिस शख्स की फोटो शेयर की थी उसको वैक्सीन लगाई जा चुकी थी, लेकिन मीडिया कर्मी फोटो लेने की जिद कर रहे थे, जिसके बाद डॉक्टर और उस शख्स ने हाथ में इंजेक्शन पकड़े हुए एक तस्वीर खिचवा ली, लेकिन इन सब बातों से भज्जी पाजी को क्या ही फर्क पड़ता है।

हरभजन ने तो इस एक तस्वीर को फैलाना ही जरूरी समझा। उन्होंने वैक्सीन के इस संवेदनशील मामले में ही फेक न्यूज फैला दी, जो कि खतरनाक है। ऐसा पहली बार नहीं है कि हरभजन ने वैक्सीन को लेकर कोई बेतुकी बयानबाजी की हो। हरभजन सिंह ने कुछ दिन पहले ही एक ट्वीट कर ये कहा था कि इस देश में वैक्सीन की जरूरत ही क्या है क्योंकि लोग तो बिना किसी वैक्सीन के ही आराम से ठीक हो जा रहे हैं। इसलिए भारत को वैक्सीन के मुद्दे पर  ज्यादा सीरियस नहीं होना चाहिए।

हरभजन सिंह भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी हैं, जो कई अहम मौकों पर भारत के लिए गेंदबाजी कर चुके हैं। सोशल मीडिया पर उनके बड़ी मात्रा में फॉलोअर्स हैं। ऐसे में उनकी बातों का लोगों पर असर पड़ता है। ऐसे में उम्मीद थी कि वो वैक्सीन को लेकर सकारात्मक बयान देंगे, लेकिन उन्होंने अपने करियर  में गेंदों को स्पिन कराने की तरह ही अब देश में फेक न्यूज को भी स्पिन देना शुरु कर दिया है।

वैक्सीन को लेकर पहले ही देश में कुछ राजनीतिक पार्टियों और नेताओं द्वारा निम्न स्तर की बयानबाजी  हो चुकी है। इसके नकारात्मक परिणाम भी देखने को मिले हैं। इसके चलते देश में वैक्सीनेशन को लेकर लोगों में भ्रम की स्थितियां हैं। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन  ने भी कहा था कि वैक्सीन को लेकर फैलाया जा रहा भ्रम दुर्भाग्यपूर्ण है। इसके बावजूद हरभजन ने इस मुद्दे पर बिना सोचे ये बयान दे दिया है।

एक अजीबो-गरीब बात ये भी है कि इस मुद्दे पर जब हरभजन सिंह की आलोचना होने लगी तो उन्होनें अपनी बेहूदगी का एक नया ही परिचय दिया है और अपने उन दोनों ट्वीट्स को ही डिलीट कर दिया है। इसके बाद उन्हें सोशल मीडिया पर जमकर लताड़ा जा रहा है जो कि काफी हद तक सही भी है क्योंकि जिस तरह से हरभजन ने वैक्सीन को लेकर बयान दिया है वो शर्मनाक है।

source

close