कल तक हमारा विरोध करने वाला ड्रैगन आज हमसे कर रहा है अनुरोध, जानें पूरा माजरा


यकीनन..काबिल-ए-तारीफ है भारत की कूटनीति..सामने वाला चाहे कितना भी बड़ा शूरवीर क्यों न हो लेकिन भारत सही समय पर सही दांव खेलकर पारी अपने नाम ही कर जाता है। भारत की दमदार कूटनीति का अंदाजा तो आप महज इसी से लगा सकते हैं कि कल तक हमें  आंखे दिखाने वाले ड्रैगन आज हमारे  सामने गिड़गिड़ा रहा है। कल तक हमारा विरोध करने वाला ड्रैगन आज हमसे अनुरोध कर रहे हैं। हमसे से गुहार लगा रहे है कि हम उसकी फरीयाद पर कान लगाए। निसंदेह यह हमारे लिए बहुत बड़ी कूटनीतिक जीत है। 

बता दें कि विगत वर्ष वास्तविक नियंत्रण रेखा पर भारत ने चीनी सेना के साथ हुई हिंसक झड़प के बाद उसे सबक सिखाने के लिए तीन चरणों में तकरीबन 224 चीनी एप्स पर प्रतिबंध लगा दिए थे। जिसे चीन ने अंतरराष्ट्रीय व्यापार नियमों के विरुद्ध बताया था, लेकिन ड्रैगन के खिलाफ भारत की कार्रवाई लगातार जारी रही। इस बीच अब खबर है कि भारत उसके 50 स्थायी  एप्स को प्रतिबंध करने जा रहा है, जिसको ध्यान में रखते हुए अब  चीन भारत से ऐसा नहीं करने का अनुरोध कर रहा है, लेकिन अब मंशा साफ है कि ड्रैगन के  खिलाफ ऐसा कदम जरूर उठाया जाएगा। भारत ने सुरक्षा व्यवस्था का हवाला देकर चीनी एप्स को अपने प्ले स्टोर से हटाया था।

गौरतलब है कि भारत और चीन के बीच रिश्तों में तल्खी विगत वर्ष जून माह में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर हुई हिंसक झड़प के बाद दिखी थी,  जिसके बाद भारत ने चीन के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए  एक के  बाद एक कड़े कदम उठाते थे। हालांकि, इससे पहले भी भारत ने  इस रिश्तों में जमी तनाव की धूल को दूर करने के लिए कई मौकों पर  कमांडर स्तर की वार्ता की, मगर अभी तक इसके कोई भी सकारात्मक असर नही दिखे हैं। 

close