जिला जज का फांसी के फंदे से लटका मिला शव, जांच में जुटी पुलिस

 

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में जिला एवं सत्र न्‍यायाधीश योगेश कुमार का शव उनके घर पर फांसी लटका हुआ मिला है। शुरुआती जांच में पुलिस इसे आत्महत्या का मामला बता रही है। न्‍यायाधीश योगेश कुमार अपर जिला एवं सत्र न्‍यायालय की कोर्ट संख्‍या- 9 में तैनात थे। पुलिस के अनुसार, योगेश कुमार का घर सिहानी थाना गेट में है और यहीं से इनका शव बरामद हुआ है। रिपोर्ट्स के अनुसार, योगेश कुमार मूल रूप से मेरठ के रहने वाले थे।

गाजियाबाद के कोर्ट संख्‍या नौ में अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश के पद पर योगेश कुमार तैनात थे। उन्हें सिहानी गेट थाना क्षेत्र के नेहरू नगर में सरकारी आवास मिला हुआ था। उनकी नियुक्ति 7 मार्च 2020 को गाजियाबाद जिला कोर्ट में हुई थी। ये उनकी पहली ही पोस्टिंग थी। पुलिस को जब जिला एवं सत्र न्‍यायाधीश योगेश कुमार के फांसी पर लटके होने की सूचना मिली हड़कंप मच गया। पुलिस ने मौके पर पहुंच कर पहले योगेश कुमार को नीचे उतारा और उसके उन्हें यशोदा अस्‍पताल ले गई।

जहां डॉक्टरों की टीम ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। जिला एवं सत्र न्‍यायाधीश योगेश कुमार की मौत लेकर सीओ द्वितीय अवनीश कुमार का कहना है कि, शुरुआती जांच में मामला आत्महत्या का ही लग रहा है। पुलिस की जांच जारी है कि, इसकी वजह क्या है। पुलिस की टीम उन्हें अस्‍पताल ले गई। जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया है। पुलिस को अब तक योगेश कुमार के द्वारा लिखा कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। पुलिस हर एंगल से मामले की जांच में लगी हुई है। करीबियों से भी पूछताछ हो रही है।

close