बिहार का वांछित गैंगस्टर दिल्ली से गिरफ्तार, रंगदारी के लिए फेंका था बम


नई दिल्लीः बिहार में रंगदारी वसूलने के लिए गैंग चला रहे एक कुख्यात बदमाश को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया है. आरोपी की पहचान आदित्य तिवारी के रूप में की गई है. उसके पास से एक पिस्तौल और पांच जिंदा कारतूस बरामद हुए हैं. उसके खिलाफ 26 से ज्यादा आपराधिक मामले दर्ज हैं. बिहार पुलिस को फिलहाल 16 मामलों में उसकी तलाश थी. वह बीते 1 साल से फरार चल रहा था और बीते 4 महीने से दिल्ली में छिपा हुआ था.

डीसीपी प्रमोद कुशवाहा के अनुसार फरार चल रहे बदमाशों को लेकर स्पेशल सेल की टीम लगातार काम कर रही थी. हाल ही में इंस्पेक्टर शिव कुमार की टीम को सूचना मिली कि बिहार का रहने वाला आदित्य तिवारी और मनीष दिल्ली एनसीआर में छिपा हुआ है. बिहार में वह वांछित चल रहा है. आदित्य के खिलाफ 16 मामले दर्ज हैं, जिनमें उसकी तलाश चल रही है. इनमें जबरन उगाही के 8, लूट/डकैती के 5, एक हत्या और दो हत्या प्रयास के मामले शामिल हैं. वह 1 साल से फरार चल रहा है और उसकी गिरफ्तारी पर 50 हजार रुपये का इनाम भी घोषित है. उसने एक अस्पताल में हैंड ग्रेनेड फेंक कर डॉक्टर से जबरन उगाही मांगी थी.

रजोकरी से गिरफ्तार हुआ आदित्य

इस जानकारी पर इंस्पेक्टर शिव कुमार की देखरेख में जानकारी जुटाना शुरू किया. हाल ही में उन्हें सूचना मिली कि वह रजोकरी फ्लाईओवर के पास आएगा. इस जानकारी पर पुलिस टीम ने रजोकरी फ्लाईओवर के पास से आदित्य को पकड़ लिया. उसके पास से एक सेमी ऑटोमेटिक पिस्तौल और पांच जिंदा कारतूस बरामद हुए हैं. इसे लेकर आर्म्स एक्ट का मामला स्पेशल सेल में दर्ज किया गया है. गिरफ्तार किया गया आदित्य तिवारी बिहार का कुख्यात गैंगस्टर है. उसने अपने साथी मनीष के साथ मिलकर बिहार में रंगदारी वसूलने का धंधा कर रखा था.

16 मामलों में चल रहा था वांछित

गिरफ्तार किए गए आदित्य तिवारी के खिलाफ कुल 26 मामले दर्ज हैं जिनमें हत्या, हत्या प्रयास, पुलिस पर हमला, लूट, अपहरण, एक्सप्लोसिव एक्ट, आर्म्स एक्ट और जबरन उगाही शामिल है. फिलहाल 16 मामलों में पुलिस को उसकी तलाश थी. जुलाई 2020 में उन्होंने गोपालगंज के एक डॉक्टर पर हमला किया था क्योंकि वह उन्हें रंगदारी नहीं दे रहा था. उन्होंने उसके अस्पताल पर 4 हैंड ग्रेनेड भी फेंके थे. 10 दिन पहले आदित्य ने मनीष के साथ मिलकर एक शख्स को धमकी भी दी थी. इसके साथ ही उन्होंने इस कॉल में बिहार के सब इंस्पेक्टर दिनेश को भी धमकाने की बात कही थी.

close