‘अगर पंजाब में शूटिंग करनी है तो पहले हमारे समर्थन में नारे लगाओ’, फर्जी किसानों ने बॉलीवुड को धमकाया

  


किसान आंदोलन के नाम पर अराजकता फैला रहे लोगों का प्रतिदिन एक नया ही रंग सामने आ रहा है जिससे असल किसानों की प्रतिष्ठा मिट्टी में मिल रही है। सरकारों की बातों और कानूनों की तो ये लोग पहले ही धज्जियां उड़ा चुके हैं लेकिन अब ये बॉलीवुड को भी धमकी देने लगे हैं, जिसके चलते अभिनेत्री जाहन्वी कपूर को मजबूरन किसान के समर्थन में पोस्ट करना पड़ा। किसानों का साफ कहना है कि पंजाब में शूटिंग करनी है तो पहले हमारा समर्थन करो, जो कि आपत्तिजनक है।

पंजाब के बस्सी पठानां में शूटिंग के लिए गई अभिनेत्री जान्हवी कपूर को पंजाब में चल रहे किसानों के आंदोलन से जूझना पड़ा और उनकी खूब आलोचना की गई। किसानों ने जानबूझकर उनकी फिल्म की शूटिंग को रुकवा दिया। किसान आंदोलन से संबंधित युवकों ने पहुंचकर कृषि कानूनों का विरोध करते हुए केंद्र सरकार और बॉलीबुड के खिलाफ नारेबाजी की। इसके बाद फिल्म की शूटिंग कर रहे लोगों को कहना पड़ा कि हम किसानों के साथ हैं।

किसान नेता बॉलीवुड से नाराज हैं कि उनके आन्दोलन को बॉलीवुड से कोई समर्थन नहीं मिल रहा है। इस मामले में किसान नेताओं ने शूटिंग की आलोचना की और कहा“पंजाबी इंडस्ट्री के सभी कलाकार और अदाकार किसान आंदोलन का साथ दे रहे हैंलेकिन बालीबुड कलाकार अपनी फिल्मों की शूटिंग करने के लिए पंजाब तो आते हैंलेकिन किसान आंदोलन के पक्ष में एक बार भी नहीं कुछ कहा। इस कारण उनमें रोष है।” उन्होंने कहा, “जब तक यह कलाकार आंदोलन का समर्थन नहीं करते तब तक इसी तरह उनका विरोध किया जाएगा।”

किसानों को पूरा स्टाफ समझाता रहा पुलिस भी सक्रिय हुई, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ जिसके बाद जाह्नवी कपूर ने किसानों के हक में अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर स्टेटस डाला, तब कहीं जाकर शूटिंग का काम फिर से शुरू हो पाया, और लोगों की नाराजगी दूर हो गई। इस पूरे प्रकरण से एक बात स्पष्ट हो गई कि अब किसानों का मुद्दा केवल उन कृषि बिलों तक ही नहीं रह गया है, ये अराजक लोग प्रत्येक चीज और विषय वस्तु में विरोध की आग लगा रहे हैं।।

यही कारण है कि किसानों के आंदोलन में खालिस्तानी समर्थकों का पूरा हुजूम है। किसानों की छवि तार-तार हो रही है। उसी कड़ी में अब ये लोग बॉलीवुड को भी निशाने पर ले रहे हैं जिसके चलते पंजाब की अर्थव्यवस्था को नुकसान होगा लेकिन तथाकथित किसानों का क्या, उन्हें तो बस अराजकता से मतलब है। बॉलीवुड में पंजाबी कलाकारों की भरमार हैं। ऐसे में किसानों का रुख उनके लिए ही मुसीबतों का सबब होगा, क्योंकि देश की जनता इसके लिए बॉलीवुड को आड़े हाथों ले सकती है।

source

close