हिंदू नाम रख बीटेक छात्रा को फंसाया-संबंध भी बनाए, लड़की ने एक दिन नमाज पढ़ते पकड़ लिया

 


हिंदू नाम रख बीटेक छात्रा को फंसाया-संबंध भी बनाए, लड़की ने एक दिन नमाज पढ़ते पकड़ लिया

मध्‍यप्रदेश के भोपाल में लव जिहाद का पहला मामला थाने तक पहुंचा है । दरअसल यहां अशोका गार्डन इलाके में एक मुस्लिम युवक असद ने अपना नाम आशू रखकर, बीटेक छात्रा को अपने प्रेम जाल में फंसा लिया । युवती के साथ उसने इस दौरान संबंध भी बना लिए । लेकिन छाएक दिन युवती ने उसे नमाज पढ़ते हुए देख लिया, जिसके बाद पूरा सच सामने आ गया ।

धर्म परिवर्तन का दबाव
आशू नाम के इस युवक को जब युवती ने पकड़ा तो वो उसे अपने प्‍यार की दुहाई देने लगा, इतना ही उसने पीड़िता पर धर्म परिवर्तन का दबाव भी बनाया । वो उसे मुस्लिम बनने के लिए कहने लगा और फिर निकाह की बात कही । लेकिन युवती ने उसकी शिकायत कर दी । पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मध्यप्रदेश धार्मिक स्वतंत्रता अध्यादेश (लव जिहाद) के तहत केस दर्ज कर लिया। साथ ही, आरोपी को हिरासत में ले लिया गया है ।

ऐसे हुई धोखाधड़ी
युवती की इस युवक से 2019 में जानपहचान हुई, बालाघाट निवासी बीटेक छात्रा को अशोका गार्डन निवासी इस युवक ने अपना नाम आशू बताया । आशू ने खुद को हिंदू और पेशे से मैकेनिकल इंजीनियर बताया। कुछ समय बाद जब दोनों एक दूसरे से प्रेम करने लगे, तो युवक उसे अपने किराए के मकान में ले गया। वहां उसने और छात्रा ने कई बार शारीरिक संबंध बनाए। पीड़िता ने पुलिस को बताया कि आशू का राज उसके जन्मदिन पर खुला, जब वो युवती को घुमाने के लिए रायसेन ले गया और एक होटल में ठहरा।

नमाज पढ़ते हुए पकड़ा गया
आशू नाम के इस युवक ने युवती को एक काम होने का बहाना बनाते हुए कुछ देर में आने की बात कही। जिस पर युवती को शक हुआ तो वह पीछे-पीछे चली गई, वहां उसने आशू को नमाज पढ़ते हुए देख लिया । पीड़िता ने सवाल-जवाब किए तो आरोपी ने अपना नाम असद खान बताया। जिसके बाद वो युवती को प्‍यार की दुहाई देकर, निकाह की बात करने लगा । मार्च 2020 में हुई इस घटना के बाद पीड़िता ने असद से दूरी बना ली । लेकिन युवक ने उसे परेशान करना शुरू कर दिया । अक्तूबर 2020 के दौरान आरोपी ने उसे रास्ते में रोक लिया और शादी का दबाव बनाने लगा। पीड़िता के साथ मारपीट भी की।

तस्‍वीरें सोशल मीडिया पर डाल दीं
इसी जनवरी महीने में उसने युवती पर धर्म परिवर्तन करने का दबाव बनाया, जब वो नहीं मानी तो 19 जनवरी को आरोपी ने युवती की तस्वीरें सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दीं साथ ही आपत्तिजनक टिप्पणी भी की। जिसके बाद पीड़िता ने मामले की शिकायत बीजेपी के जिला कार्यसमिति सदस्य संजय मिश्रा से की, फिर थाने में केस दर्ज करा दिया।  केस दर्ज होने की जानकारी मिलते ही असद भोपाल छोड़कर भागने की कोशिश में था, लेकिन उसे रेलवे स्टेशन से दबोच लिया गया ।

close