अमेरिका में इस बड़ी घटना का शिकार हो चुकी हैं प्रियंका, जानें कैसे किया सामना

 

priynka chopra

एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा (Priyanka Chopra) इन दिनों हॉलीवुड में अपनी एक्टिंग का जलवा बिखेर रही हैं। प्रियंका निक जोनस से शादी करके अब लंदन में ही शिफ्ट हो गई हैं और अब वह हॉलीवुड में अपना हुनर दिखा रहीं हैं। उन्होंने अभी हाल ही में अपनी एक फिल्म की शूटिंग खत्म की है। वहीं प्रियंका जल्द ही अपनी एक किताब भी लांच करने वाली हैं। हर जगह अपनी बेबाक राय रखने वाली प्रियंका चोपड़ा ने एक इंटरव्यू में खुलासा किया था कि उन्हें भी अमेरिका में रंगभेद का शिकार होना पड़ा था। प्रियंका चोपड़ा (Priyanka Chopra) बताती हैं कि जब वह मात्र 12 साल की थी तभी पढाई के लिए अमेरिका चली गयी थी, जहां वह अपने परिवार के साथ लंबे समय तक अमेरिका में रही थीं।

वह बताती हैं कि उन्होंने अमेरिका से ही हाईस्कूल की पढाई की है, लेकिन स्कूल में उन्हें वहां रंगभेद का काफी सामना करना पड़ा, वहां बच्चे उन्हें उनके सांवले रंग के कारण परेशान करते थे, वह उन्हें ब्राउनी कहकर बुलाते थे और अपने देश वापस लौटने के लिए कहते थे। वह बताती हैं कि बच्चे मुझे कहते थे- ‘जिस हाथी पर बैठकर आई हो उसी पर से वापस लौट जाओ।’ वह कहती हैं मैंने निजी रूप से इन सबका सामना किया। ऐसे में धीरे-धीरे मैंने अपना आत्मविश्वास खो दिया था।

खुद को असुरक्षित महसूस करती थीं 

प्रियंका चोपड़ा (Priyanka Chopra)आगे कहती हैं कि ‘मैंने हमेशा खुद को एक आश्वस्त व्यक्ति माना है लेकिन जो कुछ भी मेरे साथ हुआ उससे मैं अनिश्चित हो गई थी। वह कहती हैं कि ‘हालांकि मैं इसे गलत नहीं मानती और न ही उन्हें दोष देती हैं, मेरा मानना है कि वह चाहती थी कि वह कुछ ऐसा करें जिससे मैं परेशान होकर वापस हो जाऊं।’ वह कहती हैं कि ’35 साल की उम्र में मैं यह कह सकती हूं कि वह असुरक्षित महसूस कर रही थीं।’

close