बिहार कांग्रेस कार्यालय में बवाल, प्रभारी भक्त चरण दास के सामने भड़के 'गोहिल विरोधी'


पटना: बिहार कांग्रेस का प्रभारी बनाए जाने के बाद पूर्व केंद्रीय मंत्री भक्त चरण दास आज पटना पहुंचे. इसके बाद कांग्रेस कार्यालय में पार्टी के नेताओं ने हंगामा शुरू कर दिया. भक्त चरण दास पार्टी के नेताओं के साथ बैठक कर रहे थे कि अचानक मीटिंग हॉल में माहौल काफी गर्म हो गया.

इस दौरान पूर्व पार्षद लाल बाबू लाल और पूर्व विधायक संजीव टोनी ने बवाल खड़ा कर दिया. बीच मीटिंग में उठकर पूर्व पार्षद लाल बाबू लाल ने कहा कि बिहार के पूर्व प्रभारी रहे शक्ति सिंह गोहिल द्वारा किये गए कार्यों को लेकर एक प्रस्ताव पारित होना चाहिए और फिर मीटिंग को आगे बढ़ाना चाहिए. इस पर हॉल में मौजूद कई नेताओं ने आपत्ति जताई. जिसके बाद काफी बवाल खड़ा हो गया.

चुनाव में कांग्रेस की हार के बाद बढ़ी परेशानी
2020 के विधानसभा चुनाव में पार्टी की बड़ी हार ने यह परेशानी और बढ़ाई है. इन समस्याओं को दूर करने और पार्टी को बिहार में मजबूती देने के लिए अभी चंद रोज पहले ही कांग्रेस आलाकमान ने भक्त चरण दास को बिहार कांग्रेस की कमान सौंपी है. प्रभारी बनाए जाने के बाद भक्‍त चरण दास पहली बार बिहार आकर पार्टी नेताओं के साथ मीटिंग कर रहे हैं. वे तीन दिन रहकर कांग्रेस की बदहाली के कारणों की पड़ताल करेंगे और आलाकमान को इसकी रिपार्ट देंगे.

close