शादी समारोह में चली गोली, मातम में बदली शादी की खुशियां


झाबुआ। मांगलिक कार्यक्रमों में हर्ष फायर के दौरान कई बार लोगों की जान चली जाती है. इस मामले को लेकर प्रशासन ने लोगों से मांगलिक कार्यक्रमों, जुलूस, चल समारोहों और भीड़भाड़ वाले इलाकों में लाइसेंसी बंदूकों से फायर न करने की अपील की थी. बावजूद इसके लोग इसका पालन नहीं कर रहे. लापरवाही के कारण कई बार बेकसूर लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ती है. ऐसा ही मामला पेटलावद क्षेत्र के ग्राम बोलासा में सामने आया है. ग्राम बोलासा में एक विवाह समारोह में फायर के दौरान एक व्यक्ति की मौत हो गई.


शादी में चली गोली, एक व्यक्ति की मौत

गुरुवार देर शाम रायपुरिया थाना क्षेत्र के ग्राम बोलासा में विवाह समारोह चल रहा था. यहां मोरझिरी गांव से बारात आई थी. मांगलिक कार्यक्रम के दौरान किसी व्यक्ति की बंदूक से गोली चल गई. यह गोली विवाह समारोह में शामिल एक व्यक्ति को लग गई. गोली लगने से मौके पर ही ग्रामीण की मौत हो गई.


तोरण मारने के दौरान हुआ विवाद

बताया जा रहा है कि वर पक्ष के लोग जब दुल्हन के घर पहुंचे, तो यहां तोरण मारने की रस्म के दौरान कुछ लोगों में आपसी विवाद हो गया. विवाद के दौरान शादी में शामिल एक व्यक्ति की बंदूक से गोली चली. गोली से विवाह समारोह में शामिल होने आए तारू नाम के शख्स को लगी. जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई.

मांगलिक कार्यक्रम मातम में बदला

जिस स्थान पर वैवाहिक कार्यक्रम के मंगल गीत गाए जा रहे थे. उसी स्थान पर थोड़ी देर में चीख-पुकार और मातम पसर गया. अचानक हुए इस घटनाक्रम से गांव में सनसनी फैल गई. घटना के बाद विवाह समारोह में शामिल लोग मृतक को पेटलावद के अस्पताल लेकर गए. जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. मामले की जानकारी स्थानीय पुलिस को दी. पुलिस ने मौके पर पहुंच कर जांच शुरू कर दी है.

रायपुरिया थाना क्षेत्र का मामला

घटना की पुष्टि करते हुए रायपुरिया थाना प्रभारी ने बताया कि किसकी बंदूक से गोली चली है, फिलहाल यह नहीं कहा जा सकता. विवाह समारोह में शामिल लोगों से पुलिस पूछताछ कर रही है. शानिवार को मृतक के शव का पीएम होने के बाद शव परिजनों को सुपुर्द किया जाएगा. जिसके बाद पुलिस आगे की कार्रवाई करेगी.

close