सीएम योगी ने स्ट्रॉबेरी फेस्टिवल का किया उद्घाटन, किसानों को किया प्रेरित


झांसी : प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 17 जनवरी से 16 फरवरी तक चलने वाले स्ट्रॉबेरी फेस्टिवल का रविवार को वर्चुअल माध्यम से शुभारंभ किया. झांसी में इस उद्घाटन कार्यक्रम के दौरान फेस्टिवल के संयोजक, स्ट्रॉबेरी उत्पादक, किसान संगठनों के प्रतिनिधि और उद्यान व कृषि विभाग के तमाम अधिकारी मौजूद रहे. मुख्यमंत्री ने इस अनूठे आयोजन की तारीफ करते हुए बुन्देलखण्ड के किसानों को स्ट्रॉबेरी सहित अन्य तरह के नए किस्म की खेतियों के लिए आगे आने के लिए प्रेरित किया.

लॉ स्टूडेंट ने प्रायोगिक तौर पर शुरू की खेती

झांसी ऑर्गेनिक्स और उत्तर प्रदेश सरकार ने मिलकर इस अनूठे कार्यक्रम स्ट्रॉबेरी फेस्टिवल का झांसी में आयोजन किया है. दरअसल, झांसी शहर की रहने वाली लॉ स्टूडेंट गुरलीन ने अपने खेतों में स्ट्रॉबेरी की खेती करने में सफलता हासिल की है. इंडियन स्कूल ऑफ लॉ से एलएलबी करने के बाद गुरलीन का चयन यूनाइटेड स्टेटस के विश्वविद्यालय में एलएलएम के लिए हुआ है. कोविड संक्रमण और फिर लॉक डाउन के दौरान गुरलीन अपने घर झांसी पहुंची तो प्रयोग के तौर पर यह खेती शुरू की और अब इस खेती की सराहना उत्तर प्रदेश सरकार भी कर रही है.

गुरलीन बताती हैं कि बिना केमिकल का खाना सभी को अच्छा लगता है. लॉकडाउन के दौरान यही सोचते हुए हमने यह प्रयोग शुरू किया. पहले गमलों में लगाया और बेहतर नतीजे मिले. इसके बाद हमने भोजला में डेढ़ एकड़ में इसे सफलता पूर्वक उगाने में सफलता हासिल की.

strawberry festival started in jhansi
स्ट्रॉबेरी से बने व्यंजन.

किसानों को सरकार करेगी प्रोत्साहित
डीएम आंद्रा वामसी ने बताया बुन्देलखण्ड में उद्यान विभाग से जुड़े हुए बहुत से फसलों की पैदाइश हो रही है, उसमें स्ट्रॉबेरी भी शामिल है. यहां दलहन, तिलहन, मटर और संतरे का भी पैदाइश हो रहा है. बुन्देलखण्ड में स्ट्रॉबेरी की पैदाइश की जा सकती है. इस बात का प्रचार-प्रसार करना है. यहां उद्यान विभाग से जुड़ी बहुत सारी योजनाएं हैं, जिन्हें किसानों तक पहुंचाया जाना है.

close