मेनका गांधी ने दृष्टिहीन पपी को लिया गोद, नाम रखा अहिल्या

 


सुलतानपुर: जिले की सांसद मेनका गांधी का पशु प्रेम जग जाहिर है. जिसे लेकर वो अक्सर सुर्खियों में भी रहती हैं. इस बार उन्होंने एक दृष्टिहीन डॉगी के बच्चे को अपनाया है. इस पपी की भी आंखें खराब हैं. सांसद मेनिका गांधी ने इस पपी का नाम अहिल्या रखा. सासंद मेनका गांधी ने इस पपी को अपने साथ दिल्ली ले जाने और वहां पर उस इसकी देखभाल करने की बात कही है.

सांसद को फोन पर मिली अंधे डॉगी और पपी की जानकारी

जब मेनका दिल्ली में थी, तो उनके पास बनारस से एक व्यक्ति का फोन आया. उस व्यक्ति ने सांसद को बताया कि दृष्टिहीन डॉगी का एक बच्चा उनके पास है, जिसकी दोनों आंखें नहीं है. व्यक्ति ने बताया कि डॉगी के बच्चे की देखभाल करने वाला कोई नहीं है. इस बात को सुनते ही मेनका गांधी तुरंत उस पपी को अपने संसदीय क्षेत्र सुलतानपुर पहुंचने के लिए कहा. जिसके बाद युवक उस पपी को लेकर सांसद मेनका गांधी के शास्त्रीनगर स्थित आवास पर पहुंचे.

कुत्ते को गोद में लिए हुए मेनका गांधी
पपी को गोद लेकर बैंठी मेनका गांधी

बनारस से सुल्तानपुर पहुंचा पपी

मेनका गांधी जैसे ही दिल्ली से सुलतानपुर आवास पर पहुंची, उनकी नजर उस व्यक्ति पर पड़ी. वह उस दृष्टिहीन डॉगी के बच्चे को लेकर बनारस से उनके पास आया था. दृष्टिहीन डॉगी के बच्चे की दोनों आंखें खराब थी. पपी को देखते ही सांसद ने उसे अपनी गोद में ले लिया और उसे सर्दी से बचाने के लिए अपनी शॉल से ढक लिया और प्यार-दुलार करने लगी. मेनका गांधी ने कहा कि वह अहिल्या लेकर दिल्ली जाएंगी और अपने साथ रखेंगी.

कुत्ते को गोद में लिए हुए मेनका गांधी
डॉगी के बच्चे को पुचकारती मेनका गांधी मेनका गांधी
close