IAS बनना चाहते थे बीजेपी सांसद मनोज तिवारी, राजस्थान के लिये खेल चुके हैं क्लब क्रिकेट!

  

IAS बनना चाहते थे बीजेपी सांसद मनोज तिवारी, राजस्थान के लिये खेल चुके हैं क्लब क्रिकेट!

भोजपुरी सुपरस्टार तथा दिल्ली बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष मनोज तिवारी हाल ही में दूसरी बार पापा बने हैं, मनोज कई सुपरहिट भोजपुरी फिल्मों में काम कर चुके हैं, राजनीति में सक्रिय मनोज अपने बेबाक अंदाज के लिये भी जाने जाते हैं, न्यूज डिबेट से लेकर टीवी चैनल तक पर मनोज अपनी खुलकर बात रखते हैं, उन्होने अपने जीवन में बेहद संघर्ष किया है, कई बार वो अपनी जिंदगी के किस्से साझा कर चुके हैं।


आईएएस बनना चाहते थे
आप की अदालत में मनोज तिवारी ने बताया था कि मैंने 6 साल खूब संघर्ष किया, पहले तो आईएएस अधिकारी बनना चाहता था, फिर धीरे-धीरे घटते गये, 
जब आईएएस नहीं बना, तो सोचा कम से कम पीसीएस बन जाऊं, वो भी नहीं हुआ, तो सोचा दरोगा बन जाएं, फिर इसके बाद मैं कुछ भी करने को तैयार था, उन्होने आगे कहा, दरोगा भी बन बनना चाहता था, नहीं बने, तो सिनेमा में बन गये।
राजस्थान क्लब के लिये खेल चुके हैं क्रिकेट
बीजेपी सांसद ने रजत शर्मा से कहा था, शुरुआत में तो गायक बनना चाहता था, लेकिन जब वहां सफलता नहीं मिलती थी, तो बीच का रास्ता निकलना पड़ता था, 
कुछ दिन क्रिकेट खेला, स्कॉलरशिप बंद हो गई, तो क्रिकेट खेलने से पैसे मिलते थे, सीएबी लीग खेला था राजस्थान से बंगाल में, हम और सौरव दा एक क्लब में खेलते थे।
नौकरी ना लगने से गांव में बेइज्जती
मनोज तिवारी ने कहा कि नौकरी ना लगने के कारण उनकी गांव में बेइज्जती होती थी, उन्होने बताया कि समाज बार-बार पिन चुभाता रहता था कि 
तुम्हारी नौकरी नहीं लगी, गांव के लोग पूछते थे कि क्या भाई क्या हुआ, इतना ही नहीं मनोज तिवारी ने बेरोजगारी पर एक गाना भी गाया है, जो बेहद हिट हुआ था। उन्होने ये भी बताया कि उनके पास बचपन में साइकिल भी नहीं होती थी, हालांकि सांसद बनने के बाद महंगी गाड़ियों के शौकीन मनोज साइकिल से संसद भी जा चुके हैं, उन्होने 2019 लोकसभा चुनाव में शीला दीक्षित को हराया था।
close