Israeli Embassy ब्लास्ट की जगह से मिले लेटर में दी गई चेतावनी, लिखा ये तो बस ट्रेलर..


भारत की राजधानी दिल्ली में बीती शाम इजरायल दूतावास(Israeli Embassy) में हुए ब्लास्ट के बाद अब एक नई खबर सामने आ रही है। इजरायल दूतावास में हुए ब्लास्ट से किसी को कोई हानि तो नहीं पहुंची है, लेकिन इसके पीछे एक सोची समझी साजिश रची जाने की आशंका जताई जा रही है। इजरायल दूतावास के पास हुए इस धमाके की जिम्मेदारी जैश उल हिंद(Jaish ul Hind) नाम के एक अनजान से आतंकी सगंठन ने ली है। इसके बावजूद भी सुरक्षा एजेंसियां इस मामले के तह तक पहुंचने की कोशिश कर रही हैं।

लेटर में इस ब्लास्ट को बताया गया ट्रेलर

दूसरी ओर धमाके वाली जगह से जो लेटर मिला है उसमें कुछ संदेहपूर्वक चीजें लिखी हुई हैं। लेटर के अनुसार ये ब्लास्ट केवल एक ट्रेलर है, इसकी फिल्म अभी बाकी है। इससे पहले भी साल 2012 फरवरी में इजरायल दूतावास के पास ही एक कार को बम धमाके से उडाया था, जिसके पीछे ईरानी एजेंसियों के होने की बात बोली गई थी,लेकिन कोई पुख्ता सबूत हाथ ना लग पाया था। दिल्ली पुलिस के अनुसार प्राप्त लेटर में इस हमले को महज ट्रेलर कहा गया है। मिले लेटर में लिखा है, ”यह एक ट्रेलर है, हम तुम्हारी जिंदगी खत्म कर सकेत हैं, कभी भी, कहीं भी। ईरानी शहीद।”  ईरान के पूर्व सैन्य अधिकारी कासिम सुलेमानी और ईरान के परमाणु वैज्ञानिक मोहसेन फखरीजादेह के मर्डर की बात भी इस लेटर में की गई है। अमेरिकी एयर स्ट्राइक में सुलेमानी को 2020 जनवरी में मार दिया गया था, लेकिन इसके पहले ही परमाणु वैज्ञानिक की हत्या कर दी गई थी और इनका आरोप इजरायल पर लगाए गए थे।

सीसीटीवी में कैद हुए दो व्यक्ति

इजरायल दूतावास के पास लगे सीसीटीवी कैमरे में देखा गया है कि एक कैब ने दो व्यक्तियों को दूतावास के पास उतारा है, लेकिन अभी तक इस बात से पर्दा नहीं उठ पाया है कि इस धमाके में उन दो व्यक्तियों का हाथ है या नहीं। पुलिस ने कैब ड्राइवर से बातचीत कर उन दो व्यक्तियों का स्केच बनवाना शुरु कर दिया है। बताया जा रहा है कि अमोनियम नाइट्रेट के प्रयोग से ये विस्फोट किया गया है। हालाकि इस विस्फोट में किसी को क्षति नहीं पहुंची है, लेकिन हां जनसंपर्क अधिकारी अनिल मित्तल के अनुसार विस्फोट की जगह खड़ी कुछ कारे क्षतिग्रस्त हो गयी हैं।

close