उन्होंने उसे मिटाने की कोशिश की लेकिन मजबूरी में उसे वापिस लाया गया, क्या जिनपिंग को Jack Ma में अपना मैच मिल गया है?

 


पिछले कई महीनों से गायब चल रहे चीन के अरबपति उद्योगपति Jack Ma ने अब दोबारा सार्वजनिक तौर पर अपनी उपस्थिती दर्ज कराई है। उन्होंने ग्रामीण शिक्षकों को संबोधित करते हुए हाल ही में एक प्रैस वार्ता का आयोजन किया और महामारी खत्म होने के बाद दोबारा उन सबसे मिलने की बात कही! साथ ही उन्होंने कहा कि ग्रामीण चीन के उद्धार और सबके भले के लिए काम करना ही आज के उद्योगपतियों का सबसे पहला उद्देश्य होना चाहिए!

Jack Ma को चीनी सरकार के साथ विवाद के बाद अचानक गायब करवा दिया गया था, और बाद में चीनी प्रशासन ने कहा था कि Jack Ma को अभी चीनी सरकार की देखरेख में रखा गया है। हालांकि, अब Jack Ma का दोबारा सार्वजनिक तौर पर उपस्थिती दर्ज कराना दिखाता है कि Jack Ma को गायब कराना CCP के लिए इतना आसान भी नहीं रहने वाला है।

ऐसा इसलिए, क्योंकि मा चीन के युवाओं और चीन की स्टार्ट-अप जनरेशन के बीच बेहद लोकप्रिय हैं।
Jack Ma कोई आम चीनी उद्योगपति नहीं हैं, बल्कि उनके पास पैसे के अलावा शौहरत भी खूब है, जो आमतौर पर किसी चीनी उद्योगपति के पास नहीं होती। अलीबाबा ने एक बड़ी microblog website में निवेश किया है, Video sharing और streaming platforms में पैसा लगाया है, यहां तक कि South China Morning Post में भी Alibaba की हिस्सेदारी है। इस प्रकार चीन में Content के प्रसारण पर Alibaba का प्रभाव बढ़ता ही जा रहा है।

इतना ही नहीं, Jack Ma चीन में बेहद लोकप्रिय भी हैं। Jack Ma को चीनी युवाओं द्वारा एक role model के तौर पर देखा जाता है और चीन की Start Up कम्यूनिटी में उनका अच्छा खासा प्रभाव है। ऐसे में Jack Ma के खिलाफ जाना CCP पर बड़ा भारी पड़ सकता है। Jack Ma भी इस बात को जानते हैं और यही कारण था कि पिछले कुछ महीनों पहले Jack Ma ने खुलकर चीनी सरकार के खिलाफ अपनी आवाज़ उठाई थी।

अक्टूबर महीने में Jack Ma ने चीनी सरकार के regulators और केंद्रीय बैंक पर ज़रूरत से ज़्यादा ध्यान देने का आरोप लगाकर उनकी वित्तीय नीतियों की आलोचना की थी, जिसने कम्युनिस्ट पार्टी में उनके खिलाफ आवाज़ों को और बुलंद कर दिया। इतिहास रहा है कि जब भी कोई चीनी उद्योगपति जिनपिंग के खिलाफ बोलता है, तो जिनपिंग उसे गायब करा देते हैं। उदाहरण के लिए रेन जिकियांग को ही देख लीजिये! इन्होंने जिनपिंग को “गंवार” कहने की गलती की थी और अब ये जनाब जेल में हैं।

हालांकि, जिनपिंग के लिए रेन जिकियांग की तरह Jack Ma को भी गायब करवाना इतना आसान नहीं रहेगा, क्योंकि जैक मा सिर्फ चीन में ही नहीं, बल्कि विदेशों में भी काफ़ी लोकप्रिय हैं और उनके खिलाफ लिया गया कोई भी एक्शन चीन के वित्तीय बाज़ार में बड़ा भूचाल लेकर आ सकता है। अब हो सकता है कि बढ़ते सामाजिक दबाव के कारण CCP को जैक मा को दोबारा जनता के सामने सही सलामत लाना पड़ा है, नहीं तो जैक मा के खिलाफ किसी भी बड़े चीनी एक्शन की प्रतिक्रिया में CCP के खिलाफ चीन में कोई बगावत भी जन्म ले सकती है!

source

close