इस बैंक से 1000 रुपये से ज्यादा धनराशि निकालने पर RBI ने लगाई रोक, ग्राहकों की बढ़ीं मुश्किलें


एक बार फिर आरबीआई ने ग्राहकों की भलाई को सर्वोपरि रखते हुए अहम फैसला लिया है. आरबीआई(RBI) ने कर्नाटक के डेक्कन अरबन को-अपरेटिव बैंक लिमिटेड (Deccan Urban Co-Operative bank) पर अब रोक लगा दी है. आरबीआई के अनुसार 19 फरवरी की शाम से कुछ निर्देश जारी किए गए है, जिनके तहत अब बैंक निर्धारित की हुई शर्तों के साथ ही काम कर करेगा. 6 महीने तक ये रोक लागू रहेगी. इसके अलावा आरबीआई ने बैंक की जांच भी शुरू कर दी है.

पैसे निकलने में रखी ये शर्त

आरबीआई ने जो निर्देश बताए है, उनके अनुसार डेक्कन अरबन को-अपरेटिव बैंक के ग्राहक 1 हजार रुपये से ज्यादा रुपये नहीं निकाल सकते है. सभी खातों पर आरबीआई के ये नियम लागू होंगे. चाहे ये  बचत खाता (Saving Account) हो या चालू खाता (Current Account) सभी तरह के खाते पर रोक लगाई गई है. अभी तो ये रोक सिर्फ 6 महीने के लिए ही है. आरबीआई ने कहा कि बैंक की वित्तीय स्थिति (Financial Situation) की समीक्षा (Review) की जाएगी, जिसके बाद आगे का क्या होना है इसका फैसला लिया जाएगा. इतना ही नहीं इसके अलावा कर्नाटक का डेक्कन अरबन को-अपरेटिव बैंक अब  से ग्राहकों को नए लोन नहीं दे पाएगा. ना हीं बैंक में और पैसा भी जमा होगा. हाल की नकदी कंडीशन को देखते हुए ही आरबीआई ने ये फैसला लिया है. डेक्कन अरबन को-अपरेटिव बैंक के सभी लेन-देन की जांच अभी की जा रही है. ऐसा कर के आरबीआई की कोशिश है कि ऐसे में जमा और निकालने में संतुलन बना रहे, जिससे बैंक के डूबने का कोई खतरा पैदा न हो

नहीं हुआ रद्द लाइसेंस

आरबीआई ने इस बात को स्पष्ट किया है कि केवल जांच करने के लिए अभी डेक्कन अरबन को-अपरेटिव बैंक पर रोक लगाई गई है, लेकिन इस बैंक का लाइसेंस रद्द नहीं किया गया है. इससे ये साफ हो जाता है कि , जो ग्राहक इस बैंक पर पैसा लगाए है, उनका पैसा पूरी तरह से सेफ है, बस अभी वो अपनी मर्जीअनुसार उसे निकाल नहीं सकते हैं. इसके अलावा आरबीआई ने किसी भी अफवाह पर ध्यान न देने की बात भी बैंक के ग्राहकों से की है.

close