श्रीलंका क्रिकेट की डूबती नैया को ये 2 दिग्गज लगाएंगे पार, रहे चुके हैं World Cup विजेता टीम के सदस्य


Muttiah Muralitharan and Kumar Sangakkara appointed in the committee to revive Sri Lanka’s lost form

जब से श्रीलंका के कुछ बड़े खिलाड़ियों ने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास लिया है तब से इस देश के खेल में लगातार गिरावट आई है।

टीम में पहले सनथ जयसूर्या, महेला जयवर्धने, तिलकरत्ने दिलशान, कुमार संगाकारा, मुथैया मुरलीधरन, उपुल थरंगा और नुवान कुलासेकरा जैसे दिग्गज मौजूद थे लेकिन जब से इन्होंने क्रिकेट से दूरी बनाई है तब से कोई भी अन्य खिलाड़ी इनकी जगह नहीं ले पाया है। लेकिन अब श्रीलंकन क्रिकट बोर्ड ने एक ऐसा कदम उठाया है जिससे शायद इस देश में क्रिकेट के खेल को फिर से उड़ान मिलें।

लंका क्रिकेट मैनेजमेंट ने टीम के कुछ पूर्व दिग्गज - कुमार संगाकारा, मुथैया मुरलीधरन, अरविंद डी सिल्वा और रोशन महानामा को कमीटी में जगह दी है। इस बात की पुष्टि श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने खुद शुक्रवार को की।

लंका की टीम फिलहाल टेस्ट में छठे, वनडे में आठवें और टी-20 रैंकिंग में 7वें पायदान पर है। लेकिन सभी को उम्मीद है कि इन खिलाड़ियों के कमीटी में शामिल होने से देश का क्रिकेट फिर से पटरी पर आ सकता है। आखिरी बार साल 2014 में श्रीलंका को लसिथ मलिंगा की अगुवाई में टी-20 चैंपयिन बनने का मौका मिला था। लेकिन इसके बाद टीम ने कभी भी बड़े टूर्नामेंट में उस तरह का प्रदर्शन नहीं दिखाया है और उन्हें लगातार निराशा ही मिली है।

बता दें कि मुथैया मुरलीधरन साल 1996 की वनडे वर्ल्ड कप में शामिल थे। इसके अलावा कुमार संगाकारा साल 2014 में हुए टी-20 वर्ल्ड कप में विजेता टीम के सदस्य थे और उन्होंने ही फाइनल मुकाबलें में भारत के खिलाफ 52 रनों की शानदार पारी खेली थी।

close