एक मंगलसूत्र के लिए चोरों के पीछे 60 किलोमीटर दौड़ी पुलिस

 


छिंदवाड़ा : शहर में चोरी की वारदात को अंजाम देने वाले दो चोरों को पुलिस ने आखिरकार पकड़ लिया है. लेकिन 60 किलोमीटर पीछा करने के बाद...जी हां ऐसा ही हुआ, अक्सर देखा जाता है कि अगर कोई अपराधी भाग रहा हो तो पुलिस उसका पीछा ज्यादा नहीं करती उसे बाद में पकड़ लेती है. लेकिन यहां मामला अलग है, पुलिस आरोपियों के पीछे 60 किलोमीटर तक भागती रही. वो भी सिर्फ एक मंगलसूत्र के लिए.

मंगलसूत्र के लिए 60 किलोमीटर दौड़ गई पुलिस

कोतवाली थाना टीआई ने बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि सत्कार चौराहे पर दो लोग एक महिला का मंगलसूत्र छीन कर भाग गए हैं. पुलिस ने तुरंत कार्रवाई करते हुए सीसीटीवी फुटेज खंगाले, फुटेज में 2 चोर तेजी से चलते हुए ऑटो में बैठते हुए दिखे. बस फिर क्या पुलिस की फुर्ती मिसाल बन गई.

चोर ऑटो में और पुलिस उनके पीछे

चोर सिर्फ एक मंगलसूत्र को लेकर दौड़ रहे थे...वो भी ऑटो से, उसी ऑटो से जिसमें 90 रुपए लीटर पेट्रोल का तेल डला है. पुलिस जबतक ऑटो का पीछा करती तबतक चोर ऑटो से उतर चुके थे. लेकिन पुलिस ने भी हार नहीं मानी...आखिर महिला का मंगलसूत्र हर हाल में लाना था, पुलिस ने ऑटो चालक से पूछताछ की, इसके बाद पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज देखे जहां पुलिस नागपुर की बस में बैठते दिखे. मतलब साफ है मंगलसूत्र के लिए चोर पहले ऑटो के लिए रुपए खर्च कर बैठे फिर बस पर नागपुर के लिए.

अब पुलिस भी नागपुर के लिए निकली

इसके बाद पुलिस ने बस का नंबर नोट कर ड्राइवर का पता लगाया और बस को लोधीखेड़ा के पास रुका दिया. तब जाकर पुलिस ने दो चोरों को पकड़ा. यानि कह सकते हैं पुलिस ने 60 किलोमीटर चोरों का पीछा किया और लोधीखेड़ा से आरोपियों को गिरफ्तार किया.

चोर सिर्फ एक मंगलसूत्र के लिए क्यों इतना भागे ?

अब आपको बताते हैं कि आखिर चोर इतना क्यों भागे और पुलिस भी क्यों दौड़ती रही. कोतवाली टीआई ने बताया कि सीसीटीवी फुटेज की मदद से उन्हें मदद मिली. पुलिस ने आरोपियों के पास से मंगलसूत्र भी बरामद कर लिया. इस मंगलसूत्र की कीमत 50 हजार बताई जा रही है, जो सोने का है. आरोपियों के पास से मोबाइल भी बरामद किया गया है. दोनों आरोपी यूपी के मुगलसराय के रहने वाले हैं.

close