रोडरेज में हुई थी रूपेश सिंह की हत्या, मुख्य आरोपी की गिरफ्तारी के बाद SSP का खुलासा


पटना: पटना एयरपोर्ट पर इंडिगो स्टेशन मैनेजर रूपेश सिंह हत्याकांड मामले का पुलिस ने खुलासा किया है. एसएसपी उपेंद्र शर्मा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि रूपेश सिंह की हत्या रोडरेज विवाद में हुई थी. मुख्य आरोपी ऋतुराज को गिरफ्तार कर लिया है. और आरोपी ने गुनाह भी कबूल किया है. हत्याकांड में शामल तीन अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है.

रोडरेज विवाद में हत्या

एसएसपी के मुताबिक हत्या करने के बाद सभी आरोपी आर ब्लॉक से दीघा रोड की तरफ गए. घटनास्थल पर तीन बजे से सभी अपराधी मौजूद थे. पुनाईचक में अपराधी 2,58 मिनट तक रहे. 4 घंटे तक लगातार सभी घटना स्थल के आसपास थे. बाईपास पर लारा पेट्रोल पंप पर सभी ने गाड़ी में तेल भरवाया. सीडीआर को देखा गया तो घटना से पहले ही मोबाइल बंद था. 4 हजार से ज्यादा सीडीआर देखा गया.

आरोपी का कबूलनामा

पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार आरोपी ऋतुराज ने बताया है कि रूपेश कुमार सिंह के साथ एक दुर्घटना हुई थी, जिसके बाद रूपेश सिंह ने मुझे 29 नवंबर को बहुत पीटा था. इससे मैं गुस्से में था लिहाजा जान से मारने के प्लान में कई दिनों से काम कर रहा था. मैं लगभग डेढ़ महीने से रूपेश कुमार सिंह को मारने की कोशिश कर रहा था और आखिकार रूपेश सिंह को मार दिया.

घर के पास ही मारी थी गोली
दरअसल, 12 जनवरी को पटना एयरपोर्ट से घर आने के दौरान अपराधियों ने घर के पास ही रूपेश सिंह को निशाना बनाया था. बाइक सवार ऋतुराज समेत अन्य अपराधियों ने ताबड़तोड़ फायरिंग की थी. जिससे उनकी घटना स्थल पर ही मौत हो गई थी. पुलिस ने अपने बयान में कहा है कि पोस्टमार्टम के दौरान रूपेश सिंह की बॉर्डी से 6 गोलियां निकाली गई थी.



close