ऑनलाइन होंगी इलाहाबाद विश्वविद्यालय की परीक्षाएं


प्रयागराज : इलाहाबाद विश्वविद्यालय की परीक्षा समिति की बैठक शुक्रवार को हुई. वाइस चांसलर प्रोफेसर संगीता श्रीवास्तव की अध्यक्षता में हुई यह बैठक ऑनलाइन मोड में आयोजित की गई. बैठक में केंद्रीय विश्वविद्यालय और उससे जुड़े संघटक कॉलेजों में होने वाली सेमेस्टर और वार्षिक परीक्षाएं ऑनलाइन मोड में पूरा करवाने का फैसला लिया गया.

इलाहाबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी की वीसी प्रोफेसर संगीता श्रीवास्तव की अध्यक्षता में हुई ऑनलाइन मीटिंग में यूनिवर्सिटी और उससे जुड़े कॉलेजों की वार्षिक और सेमेस्टर परीक्षाएं ऑनलाइन मोड में करवाने का फैसला लिया गया. आने वाले दिनों में होने वाली सभी प्रैक्टिकल और लिखित परीक्षाएं ऑनलाइन मोड में ही संपन्न करवाई जाएंगी. आगामी परीक्षाओं का विस्तृत कार्यक्रम जारी करते हुए उसे यूनिवर्सिटी की वेबसाइट पर जल्द ही अपलोड कर दिया जाएगा, जिसके बाद लिखित और प्रायोगिक परीक्षाएं शुरू होंगी. इसके अलावा मौखिक परीक्षा का आयोजन भी ऑनलाइन मोड में ही करवाया जाएगा, जिसे ZOOM एप या GOOGLE MEET एप के द्वारा सम्पन्न कराया जाएगा.

सिर्फ 4 प्रश्नों को वेब कैमरे की निगरानी में सॉल्व करना होगा
ऑनलाइन परीक्षा के लिए छात्रों को वेब कैमरे के सामने बैठकर परीक्षा देनी होगी. वेब कैमरे की निगरानी में ही दो घंटे की समय सीमा में परीक्षा देनी होगी. इसके अलावा आधे घंटे का अतिरिक्त समय परीक्षार्थियों को दिया जाएगा, जिसमें छात्रों को उत्तर पुस्तिका को पीडीएफ में कन्वर्ट करके अपलोड करना होगा. परीक्षार्थियों को सभी उत्तर अधिकतम 12 पन्नों में लिखने होंगे. नया उत्तर नए पेज से लिखना शुरू करना होगा. उत्तर पुस्तिका का मूल्यांकन भी ऑनलाइन ही होगा. छात्रों को कुल 4 प्रश्नों के उत्तर ही लिखने होंगे, जिसके लिए अधिकतम अंक विभाग द्वारा तय किए जाएंगे.

15 मार्च से शुरू होंगी परीक्षाएं
इलाहाबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी में होने वाली वार्षिक व सेमेस्टर परीक्षाएं 15 मार्च से शुरू होगी. 15 मार्च से परास्नातक की सेमेस्टर परीक्षाएं होंगी. जबकि 15 अप्रैल से स्नातक की वार्षिक परीक्षाएं आयोजित होंगी. परास्नातक की परीक्षाएं 10 दिन में पूरी करवायी जाएंगी. जबकि स्नातक की परीक्षाएं लगभग डेढ़ महीने में पूरी होगी. परीक्षा के दौरान परीक्षार्थियों को लैपटॉप का वेब कैमरा ऑन करने के बाद सिर्फ 12 पन्नों में 4 सवाल हल करने होंगे. हालांकि इस दौरान यह भी तय हुआ है कि वेब कैमरा की सुविधा न होने पर भी अभ्यर्थी को परीक्षा देने का अवसर मिलेगा.

उत्तर पुस्तिका का ऑनलाइन होगा मूल्यांकन
परीक्षा के बाद मूल्यांकन का कार्य भी ऑनलाइन ही करवाने का फैसला लिया गया है. सभी प्रायोगिक परीक्षाएं शिक्षकों द्वारा दिए गए असाइनमेंट पर आधारित होंगी. इसके साथ ही छात्रों को यह सुझाव दिया गया है कि वह अपनी उत्तर पुस्तिका को अपलोड करने से पहले उसका एक स्क्रीनशॉट अपने पास सुरक्षित रख लें. परीक्षा अवधि में छात्रों को अपने मोबाइल फोन को ऑन रखने होंगे. सभी ऑनलाइन परीक्षाएं कंट्रोलर ऑफ एग्जामिनेशन, इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के निरीक्षण और निगरानी में पूरी करवाई जाएंगी.
close