पुडुचेरी के उपराज्यपाल पद से हटाए जाने के बाद किरण बेदी ने दी यह प्रतिक्रिया


दिल्ली।
 पुडुचेरी में राजनीतिक संकट के बीच मंगलवार को किरण बेदी को उपराज्यपाल के पद से हटा दिया गया है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने किरण बेदी को तुरंत प्रभाव से हटाते हुए तेलंगाना की राज्यपाल डाॅ. टी सौंदरराजन को पुडुचेरी का अतिरिक्त प्रभार सौंप दिया है। पुडुचेरी के उपराज्यपाल पद से हटाए जाने के बाद किरण बेदी ने राजभवन के सभी कर्मचारियों का आभार जताया है। उन्होंने कहा कि मैं पुडुचेरी में उपराज्यपाल के रूप में जीवन भर के अनुभव के लिए भारत सरकार का धन्यवाद करता हूं। मैं उन सभी को भी धन्यवाद देता हूं जिन्होंने मेरे साथ मिलकर काम किया। मैं संतोष के साथ कह सकती हूं कि इस कार्यकाल के दौरान टीम राज निवास ने लगन से जनहित की सेवा की। उन्होंने आत्मीय अंदाज में सभी के सहयोग के लिए धन्यवयाद दिया। ज्ञात हो कि किरणी बेदी को पुडुचेरी के उपराज्यपाल पद से ऐसे समय पर हटाया गया है जब केंद्र शासित प्रदेश में एक और विधायक के सदस्यता से इस्तीफे के बाद राज्य की कांग्रेस सरकार ने मंगलवार को विधानसभा में अपना बहुमत खो दिया है। वर्तमान सदन में कांग्रेस नीत गठबंधन के अब 14 विधायक रह गए हैं। पुडुचेरी विधानसभा के लिए अगले कुछ महीनों में चुनाव होने वाले हैं।

इस अवसर का लाभ उठाते हुए विपक्ष ने मुख्यमंत्री वी नारायणसामी से इस्तीफा मांगते हुए कहा कि सरकार अल्पमत में है। पुडुचेरी की 33 सदस्यीय विधानसभा में अब विपक्ष के सदस्यों की संख्या भी 14 है। नारायणसामी ने विपक्ष की मांग को खारिज करते हुए दावा किया कि उनकी सरकार को सदन में बहुमत हासिल है। ज्ञात हो कि यहां सिर्फ एक विधायक के इस्तीफे से स्थिति बदल गयी है। पुडुचेरी के कांग्रेस विधायक ए जॉन कुमार ने मंगलवार को विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। इसके साथ ही गत एक महीने में वह चैथे विधायक हो गए हैं जिन्होंने विधायक पद छोड़ा है।

ए जाॅन कुमार के इस्तीफे के साथ ही विधानसभा में स्पीकर सहित कांग्रेस के सदस्यों की संख्या 10 सदस्य रह गई है। जबकि उसके सहयोगी द्रमुक के तीन सदस्य हैं एवं निर्दलीय सदस्य भी नारायणसामी की सरकार को समर्थन दे रहा है। सदन में प्रभावी सदस्यों की संख्या के आधार पर बहुमत का आंकड़ा 15 है। पुडुचेरी विधानसभा का चुनाव अप्रैल में होने की उम्मीद है क्योंकि मौजूदा विधानसभा का कार्यकाल 21 जून 2021 को समाप्त हो रहा है। कांग्रेस विधायक के इस्तीफे का घटनाक्रम पार्टी नेता राहुल गांधी के चुनाव प्रचार अभियान की शुरुआत करने आने के एक दिन पहले हुआ है।

close