Kumbh Snan: कुंभ में गंगा स्नान करने से मिलता है मोक्ष, जानिए और क्या-क्या हैं फायदे

 


इस साल कुंभ मेला 11 मार्च से हरिद्वार में शुरु होने जा रहा है। ऐसे में कुम्भ में स्नान करना बेहद शुभ और लाभकारी माना जाता है। साथ ही इस दिन महाशिवरात्रि भी है तो इसके कारण ये और भी ज्यादा शुभ है। गंगा के किनारे कुम्भ मेले में स्नान करना बहुत ही शुभ माना जाता है। जैसा की आप सबको पता होगा कि शाही स्नान के अलावा भी कई और खास तिथियां होती हैं जिनमें स्नान करना काफी अच्छा होता है। आज हम आपको बताते हैं कि हरिद्वार में कुंभ मेले के दौरान गंगा स्नान और पूजन करने से क्या क्या लाभ होते हैं।

1. नदियों के किनारे ही हिंदू धर्म के सभी तीर्थस्थल बसे बसे हुए हैं। बात करें अगर गंगा जी की तो ये हिंदू धर्म में मां का दर्जा रखती हैं। इसीलिए गंगा स्नान का महत्व और अधिक बढ़ जाता है।

2. ऐसी मान्यता है कि गंगा के बिना हिंदू संस्कार अधूरे होते हैं। गंगा जीवन और मृत्यु दोनों से ही जुड़ी हुई है। गंगाजल को अमृत की तरह की माना जाता है।

3. मकर संक्राति, मौनी अमावस्या, वसंत पंचमी, पूर्णिमा, अमावस्या, महाशिवरात्रि और गंगा दशहरा के वक्त गंगा स्नान बहुत महत्वपूर्ण होता है।

4. हिंदू धर्म में ऐसी मान्यता है कि गंगा स्नान और पूजन से व्यक्ति को रिद्धि-सिद्धि, यश-सम्मान की प्राप्ति होती है। साथ ही पाप भी नष्ट हो जाते हैं। जिससे मोक्ष की प्राप्ति होती है।

5. यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में मांगलिक दोष है तो गंगा पूजन करने से उस जातक को विशेष लाभ की प्राप्ति होती है।

6. ऐसी मान्यता है की गंगा में स्नान करने से व्यक्ति के अशुभ ग्रहों का असर भी खत्म हो जाता है।

7. गंगाजी में स्नान करने से जातक को पुण्यलाभ की प्राप्ति होती है।

close