चुनाव 2021: जिला पंचाययत अध्यक्ष के लिए तय हुआ आरक्षण, देखें अपने जिले की स्थिति

 

panchayat chunav

लखनऊ। पंचायती राज विभाग ने 2015 को आधार वर्ष मानते हुए पंचायत चुनाव के लिए आरक्षण तय करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। विभाग ने यह कार्य इलाहाबाद उच्चतम न्यायालय के आदेश के बाद करना शुरू किया है। इसी प्रक्रिया के तहत बुधवार देर रात जिला पंचायत अध्यक्ष की रिजर्वेशन लिस्ट जारी कर दी गयी है। हालांकि इस बार की सूची में कुछ बदलाव हुआ है, लेकिन यह बदलाव सिर्फ महिला और अनारक्षित सीटों के लिए ही हुआ है। अनुसूचित जाति (महिला), अनूसूचित जाति, पिछड़ा वर्ग (महिला) और पिछड़ा वर्ग के लिए जो जिले रिजर्व थे। उनमें कोई भी बदलाव नहीं किया गया है।

नई लिस्ट के अनुसार कन्नौज, अमेठी, मैनपुरी, मऊ, फिरोजाबाद, कासगंज, सोनभद्र और हमीरपुर अनारक्षित हो गए हैं, जबकि पिछले पंचायत चुनाव में इन जिलों को महिला सीट के लिए आरक्षित किया गया था। इसी प्रकार सिद्धार्थनगर, शाहजहांपुर, आगरा, बलरामपुर, मुरादाबाद, बलरामपुर और अलीगढ़ को महिला सीट के घोषित किया गया है। पहले ये जिले अनारक्षित थे।

अनुसूचित जाति (महिला)
हरदोई, लखनऊ, शामली, सीतापुर, बागपत और कौशांबी की सीट अनुसूचित जाति (महिला) के लिए आरक्षित कर दी गई है।

अनुसूचित जाति
इसी तरह अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित जिलों में कानपुर नगर,चित्रकूट, औरैया, झांसी, महोबा, जालौन, लखीमपुर खीरी, बाराबंकी, रायबरेली और मिर्जापुर की सीट शामिल है।

ओबीसी (महिला)
बदायूं, एटा, संभल, बरेली, हापुड़, कुशीनगर और वाराणसी की जिला पंचायत अध्यक्ष की सीट ओबीसी (महिला) के लिए आरक्षित की गई है।

ओबीसी
बलिया, आजमगढ़, फर्रुखाबाद, इटावा, बांदा, अंबेडकर नगर, ललितपुर, पीलीभीत, बस्ती, संत कबीर नगर, चंदौली, सहारनपुर और मुजफ्फरनगर की सीट को ओबीसी के लिए आरक्षित किया गया है।

महिलाओं के लिए आरक्षित जिले
प्रतापगढ़, बहराइच, सिद्धार्थनगर, जौनपुर, आगरा, गाजीपुर,सुल्तानपुर, शाहजहांपुर, मुरादाबाद,
बुलंदशहर,बलरामपुर और अलीगढ़ महिला के लिए आरक्षित हो गए हैं।

अनारक्षित सीटें
बिजनौर, गोंडा, प्रयागराज, मेरठ, उन्नाव, रामपुर भदोही, , फतेहपुर, मथुरा, कन्नौज, अयोध्या, देवरिया, कासगंज, महाराजगंज, गोरखपुर, अमेठी, श्रावस्ती, कानपुर देहात, अमरोहा, हाथरस, गाजियाबाद, मऊ, मैनपुरी, फिरोजाबाद, सोनभद्र, हमीरपुर और गौतमबुद्ध नगर अनारक्षित हैं।

close