यूपीडा देश में बनाएगा रिकॉर्ड, बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का 50 प्रतिशत काम पूरा


लखनऊ: बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का 50 फीसद से अधिक भौतिक कार्य पूरा किया जा चुका है. यानी की कुल लंबाई का आधा कार्य पूरा हो गया है. परियोजना में पड़ने वाली यमुना, बेतवा और केन नदियों पर पुलों का निर्माण तेजी से चल रहा है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हाल ही में यमुना नदी पर बन रहे पुल के निर्माण का निरीक्षण कर प्रगति की समीक्षा की थी. इस संदर्भ में यूपीडा के मुख्य कार्यपालक अधिकारी अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि यमुना नदी पर बन रहे पुल का निर्माण सबसे कम समय में (छह से आठ माह) में पूरा करके यूपीडा देश में एक रिकॉर्ड स्थापित करेगा.

140 किमी सड़क बनकर तैयार
उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव गृह व मुख्य कार्यपालक अधिकारी यूपीडा अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे परियोजना की कुल लंबाई 296 किलोमीटर है. गुणवत्ता को ध्यान में रखकर एक्सप्रेस-वे पर आरओबी एवं स्ट्रक्चर्स के निर्माण का काम भी तेज गति से कराया जा रहा है. बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे के प्रभारी एवं यूपीडा के मुख्य अभियंता मनोज कुमार गुप्ता ने बताया कि एक्सप्रेस-वे की कुल लंबाई में से 140 किलोमीटर सड़क बन कर तैयार हो गई है.

बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे की प्रगति
बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे में अब तक क्लीयरिंग एंड ग्रबिंग का कार्य 97% और मिट्टी का काम 83% से अधिक कर लिया गया है. कुल 818 में से 527 स्ट्रक्चर का कार्य भी पूरा हो चुका है. परियोजना की वर्तमान प्रगति में 236 किलोमीटर लंबाई में सबग्रेड स्तर तक का काम, 227 किलोमीटर लंबाई में जीएसबी स्तर का काम, 187 किलोमीटर लंबाई में डब्ल्यूएमएम का कार्य पूरा हो गया है. दीर्घ सेतुओं के लिए निर्माण के लिए कुल 1465 पाइल में से 1285 पाइल का काम पूरा किया जा चुका है. सभी 14 दीर्घ सेतुओं एवं चार रेलवे ओवरब्रिज का काम प्रगति पर है. निर्माणाधीन 18 फ्लाई ओवर में से 16 फ्लाईओवर का काम पाइल स्तर तक पूरा किया जा चुका है.

चार लेन में बन रहा एक्सप्रेस-वे
बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे चार लेन चौड़ा (छह लेन विस्तारणीय) तथा संरचनाएं छह लेन चौड़ाई की बनाई जाएंगी. एक्सप्रेस-वे के एक ओर 3.75 मीटर चौड़ाई की सर्विस रोड स्टैगर्ड रूप में बनाई जाएगी, जिससे परियोजना के आसपास के गांव के निवासियों को एक्सप्रेस-वे पर सुगम आवागमन की सुविधा मिल सकेगी.


close