कलाकारी की राजनीति में माहिर हैं शिवराज : कमलनाथ


दमोह। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ आज दमोह में कांग्रेस प्रत्याशी के पक्ष में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करने पहुंचे.जहां सभा को संबोधित करते हुए पूर्व सीएम ने प्रदेश और केंद्र सरकार को जमकर घेरा. वहीं उन्होंने सभा के पहले कांग्रेस की मंडलम बैठक लेकर कार्यकर्ताओं को चुनाव जीतने के टिप्स दिए.

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आज दमोह में महाराणा प्रताप स्कूल मैदान में आयोजित जनसभा को संबोधित करने पहुंचे थे. जहां उन्होंने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री जिस दिन झूठ नहीं बोलते, उस दिन उनका खाना हजम नहीं होता. झूठ बोलने में उन्हें महारत हासिल है. आप सुनते जाइए वह घोषणाएं करते जाएंगे. कभी मेडिकल कॉलेज तो कभी कोई घोषणा. आप लोगों को उनकी इस कलाकारी को समझना होगा और उनसे बचकर रहना होगा. कमलनाथ ने कहा कि जब मैं मुख्यमंत्री था, चाहता तो विधायकों को खरीद सकता था, लेकिन मैंने गलत रास्ता नहीं अपनाया और सच्चाई पर अडिग रहा. यह तोड़ने वाले लोग हैं. खरीद फरोख्त करके निर्वाचित सरकार गिराते हैं. इन्हें लोकतंत्र में विश्वास नहीं ह

कृषि कानून से बरबाद हो जाएंगे किसान

उन्होंने केंद्र की मोदी सरकार पर भी जमकर हमला बोला. पूर्व सीएम ने कहा कि किसान चाहते ही नहीं हैं कि कृषि कानून लाया जाए, लेकिन मोदी जी हैं कि जबरदस्ती किसान कानून ला रहे हैं. हमने समर्थन मूल्य कानून बनाया. इंदिरा गांधी ने फूड कॉरपोरेशन की स्थापना की थी. उसी समय कांग्रेस ने न्यूनतम समर्थन मूल्य लागू किया था. मोदी सरकार ने किसानों को बर्बाद करने के लिए कानून का सहारा लिया है. इस कानून से आढ़त प्रथा खत्म हो जाएगी. पूंजीपति आएंगे और मनमाने दामों पर किसानों का अनाज खरीदेंगे. मनमाने दामों पर किसानों को खाद बेचेंगे. समर्थन मूल्य से कम दाम किसानों को दिए जाएंगे. इतना ही नहीं इस कानून के कारण स्टॉक लिमिट की सीमा खत्म हो गई है. अब पूंजीपति जितना चाहे माल गोदामों में भरकर रख लेंगे और जब महंगाई बढ़ेगी बाजार में माल खत्म हो जाएगा. तो उसे अपने मन मुताबिक दामों पर बेचेंगे. पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सरकार पूंजीपतियों की सरकार है.

मोदी को पता नहीं 20 लाख करोड़ में कितने शून्य

पूर्व सीएम ने मोदी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि जब लॉकडाउन लगाया गया था, तब मोदी कहते थे कि मैंने 20 लाख करोड़ रुपए का पैकेज कोरोना से लड़ने के लिए दिया है. उन्हें पता भी है कि 20 लाख करोड़ में कितने शून्य होते हैं? साल 2014 में जब लोकसभा चुनाव थे तब नरेंद्र मोदी ने दो करोड़ लोगों को रोजगार देने किसानों की आय को दोगुना करने की बात करी थी, लेकिन 2019 में जब चुनाव हुए तो उन्होंने रोजगार और किसानों और आम जनता की बात नहीं की. मोदी ने राष्ट्रवाद, भारत-पाकिस्तान, आतंकवाद की बात की. बीजेपी का आजादी में कोई योगदान नहीं है. भाजपा वाले एक स्वतंत्रता सेनानी का नाम बता दें, जिसका आजादी में योगदान रहा हो ? जिनका आजादी के आंदोलन से दूर-दूर तक कोई लेना देना नहीं है, वह आज हमें राष्ट्रवाद बता रहे हैं. हमें ऐसे लोगों से राष्ट्रवाद के सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं है.

सभा के पहले कमलनाथ हेलीकॉप्टर से दमोह पहुंचे. उन्हें सुबह 11 बजे दमोह आना था, लेकिन वह अपने तय कार्यक्रम से करीब आधा घंटा देरी से पहुंचे. हेलीपेड से सीधे वह महाराणा प्रताप स्कूल मैदान में जनसभा स्थल पहुंचे. यहां उन्होंने मंडलम बैठक लेकर कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं को दमोह उपचुनाव जीतने के लिए जरूरी दिशा निर्देश और टिप्स दिए.

करोड़ों में बिक गए राहुल

इस अवसर पर कांग्रेस प्रत्याशी अजय टंडन ने कहा कि राहुल सिंह ने दमोह की जनता के साथ विश्वासघात किया है. वह करोड़ों रुपए में बिक गए और उन्होंने कांग्रेस और जनता को धोखा दिया है. टंडन ने जनता से कहा कि एक बार वह उन पर भरोसा करके देखें यदि भरोसे पर खरे नहीं उतर पाए तो आप की जूती और मेरा सिर होगा. उन्होंने कह की मैं रोजगार के अवसर दमोह में उपलब्ध कराऊंगा, यह मेरा वचन है. टंडन ने कहा कि मेरे परिवार ने बरसों जनता की सेवा की है. एक बार आप फिर भरोसा करके देखें यदि 1 इंच जमीन पर भी मैंने यह मेरे परिवार के किसी सदस्य ने अवैध कब्जा किया है तो मैं राजनीति छोड़ दूंगा. इस मौके पर बड़ी संख्या में कांग्रेस विधायक अन्य जिलों से आए पार्टी के पदाधिकारी सहित कार्यकर्ता मौजूद रहे.

close