RSS को ‘संघ परिवार’ मानने से Rahul Gandhi ने किया इनकार, कही ये बड़ी बात


कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) पर निशाना साधा और उनको संघ परिवार मानने से मना कर दिया है. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS)  को लेकर राहुल गांधी ने कहा कि अब वे आरएसएस को ‘संघ परिवार’ नहीं कहेंगे. इसके साथ ही राहुल ने आरएसएस पर आरोप लगाया है कि आरएसएस में महिलाओं और बुजुर्गों का सम्मान होता है. इसीलिए भगवा संगठन और उससे जुड़े जो समूहों को ‘संघ परिवार’ (Sangh Parivar) कहना ठीक नहीं है, यह एक मिथ्या विचार है.

ट्वीट में कही ये बात

अपने एक ट्वीट में कांग्रेस सांसद राहुल गांधी में कहा, “मेरा मानना है कि RSS व सम्बंधित संगठन को संघ परिवार कहना सही नहीं है. परिवार में महिलाएं होती हैं, बुजुर्गों के लिए सम्मान होता, करुणा और स्नेह की भावना होती है- जो RSS में नहीं है. अब RSS को संघ परिवार नहीं कहूंगा.” अधिकतर ऐसा होता है कि राहुल गांधी बीजेपी सरकार और पीएम मोदी पर अक्सर निशाना साधा ही करते हैं. इन दिनों कांग्रेस के निशाने पर आरएसएस पर निशाना साधे हुए हैं. इससे एक दिन पहले ही राहुल गांधी ने पुलिस को एक विशेष पॉवर देने से जुड़े एक विधेयक को लेकर बिहार विधानसभा में कहा था कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ‘आरएसएस-भाजपा मय’ हो गए हैं. इसके अलावा राहुल ने अपने एक और ट्वीट में लिखा था कि “बिहार विधानसभा की शर्मनाक घटना से साफ है कि मुख्यमंत्री पूरी तरह आरएसएस-भाजपा मय हो चुके हैं. लोकतंत्र का चीरहरण करने वालों को सरकार कहलाने का कोई अधिकार नहीं है. विपक्ष फिर भी जनहित में आवाज उठाता रहेगा- हम नहीं डरते!”

RSS ने दिया जवाब

राहुल गांधी की टिप्पणी पर आरएसएस ने उनके लिए बिना कुछ कहे कि उनका स्वागत किया है. संघ ने कहा कि  RSS का मतलब होता है कि अनुशासन, राष्ट्रवाद और सभी अच्छे गुण और विशेषता हैं. इस पर अगर कोई ये कहता है कि आरएसएस न्यायपालिका या किसी भी क्षेत्र को प्रभावित कर रहा है तो इससे  लोगों को खुशी महसूस करनी चाहिए कि कुछ अच्छा होगा. राहुल गांधी ने हमारे कामों को लेकर हमारी प्रशंसा की है.

close