कोविड-19 नियंत्रण के लिए स्वास्थ्य सेवाओं को सुधारने में केजरीवाल सरकार विफल: कांग्रेस नेता


नई दिल्ली : दिल्ली प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व विधायक अनिल भारद्वाज ने केजरीवाल सरकार पर जमकर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक सप्ताह का लॉकडाउन लगाकर यह साबित कर दिया कि दिल्ली की स्वास्थ्य व्यवस्था का ढांचा ध्वस्त हो गया है और पिछले एक वर्ष में दिल्ली सरकार ने स्वास्थ्य व्यवस्था को सुधारने और कोविड-19 संक्रमण को रोकने के लिए कोई कारगर कदम नहीं उठाया है, जिसका परिणाम स्वरूप दिल्ली के लोग आज कोरोना से जूझ रहे है. उन्होंने कहा कि मौजूदा समय में संक्रमण से युवा और बच्चे सबसे अधिक प्रभावित हो रहे हैं.

डर से प्रवासी मजदूरों का पलायन शुरू

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के वरिष्ठ नेता और पूर्व विधायक अनिल भारद्वाज ने कहा कि वीकेंड कर्फ्यू और अब एक सप्ताह के लॉकडाउन निर्णय के बाद हर रोज कमाने व खाने वाले प्रवासी श्रमिकों का पलायन शुरू हो गया. उन्होंने कहा कि यह सब कारोबार बंद होने का डर और बीमारी के भय के साथ-साथ श्रमिकों को भूख का डर भी सता रहा है.

पलायन से अर्थव्यवस्था पर असर

उन्होंने कहा कि श्रमिकों के पलायन से दिल्ली की अर्थव्यवस्था और विकास की रफ्तार पर भी इसका प्रभाव पड़ेगा. साथ ही कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मांग की है कि वह सार्वजनिक रूप से श्रमिकों से अपील करें और उनमें विश्वास जगाएं कि वह दिल्ली छोड़कर नहीं जाएं. इसके अलावा उन्होंने सरकार से श्रमिकों को आर्थिक सहायता देने की भी मांग की है.

नगर निगम अस्पताल की स्थिति है बदहाल

वहीं उन्होंने कहा कि भाजपा द्वारा शासित दिल्ली नगर निगम और भाजपा के द्वारा कोविड-19 के लिए कोई योगदान नहीं दिया जा रहा है. इस दौरान उन्होंने दिल्ली नगर निगम के अस्पतालों की बदहाल स्थिति पर भाजपा की प्रशासनिक व्यवस्था पर भी सवाल उठाए कहा कि तीनों निगमों में शासित भाजपा कोविड-19 नियंत्रण करने को लेकर बिल्कुल भी सजग नहीं है.

close