सरकार से पहले ही जनता ने उठाया सख्त कदम, खुद लगाया ‘लॉकडाउन’


देश में कोरोना का कहर बढ़ता ही जा रहा है। धीरे धीरे हालात बढ़ते जा रहे हैं। सरकार अब इस मामले में कड़ा एक्शन नहीं ले रही हैं। तो अब जनता ने ही एक्शन ले लिया है। कई सारे व्यापारिक संगठनों ने अपने शहरों के जितने भी मुख्य बाजार है, उन सभी में सात दिनों के लिए तालाबंदी कर दी। इसका मतलब है कि आने वाले सात दिनों तक ना कोई दुकान खुलेगी ना ही कोई कारोबार होगा।

देशभर दो लाख से ज्यादा कोरोना के मरीजों पुष्टि होने के बाद अब लोगों ने अपने को बचाने के लिए खुद से कदम उठाया है। कोरोना के बढ़ रहे मामलों को लेकर यूपी की राजधानी लखनऊ सहित छत्तीसगढ़,मध्यप्रदेश, उड़ीसा और महाराष्ट्र के कई प्रमुख व्यापारिक संगठनों ने दुकानों को बंद करने का फैसला लिया है। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के सबसे मुख्य बाजार हजरतगंज, अमीनाबाद और चौक की सभी दुकानों को अगले तीन से सात दिनों के लिए पूरी तरह से बंद कर दिये गये हैं। इस मामले में यूपी के व्यापार मंडल के अशोक यादव ने कहा है कि हालात इस तरीके के अब नहीं है कि अब दुकानों को खोल कर भीड़ भाड़ को बुलाया जाए। अशोक ने कहा कि सिर्फ लखनऊ ही नहीं बल्कि उत्तर प्रदेश के बाकी कई शहरों की दुकानों को अगले 3-7 दिनों के लिए बंद करने का ऐलान किया गया है। महाराष्ट्र के चंद्रपुर में भी कई मार्केट को बंद करने का फैसला किया गये है।
लातूर की नगर पालिका पार्षद प्रियंका ऊषागांवकर ने कहा है कि उन्होंने अपने शहर में ऐसी बहुत से स्थानों को बंद कर दिया है। उनका कहना है कि लोग आगे आकर अब खुद को ही घरों में बंद रहने को कहते हैं। घरों तक ज़रूरत के सामान को पहुंचाने की जिम्मेदारी भी हम लोगों ने ली है।

close